जेल से छूटे इमरान खान का दावा- हाईकोर्ट से किया गया अगवा, हिरासत में डंडों से पीटा गया

इमरान ने उन लोगों की भी आलोचना की जो चुनाव के बजाय अराजकता चाहते हैं और कहा कि चुनाव चाहने वाली पार्टी इस तरह के व्यवहार का समर्थन नहीं करेगी। पीटीआई अध्यक्ष ने पार्टी के कार्यकर्ताओं से सार्वजनिक और निजी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने से बचने की अपील की है।

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने जेल से छूटने के बाद दावा किया है कि उन्हें हिरासत में डंडों से पीटा गया
पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने जेल से छूटने के बाद दावा किया है कि उन्हें हिरासत में डंडों से पीटा गया
user

नवजीवन डेस्क

पाकिस्तान सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर गुरुवार शाम जेल से छूटने के बाद पूर्व प्रधानमंत्री और पीटीआई प्रमुख इमरान खान ने अपनी गिरफ्तारी पर दुख व्यक्त करते हुए दावा किया कि उन्हें इस्लामाबाद उच्च न्यायालय से अगवा कर लिया गया था और लाठियों से पीटा गया। उन्होंने कहा कि ऐसा किसी अपराधी के साथ भी नहीं किया जाता।

समा टीवी ने बताया कि इमरान खान ने दावा किया कि उन्हें पुलिस लाइन सहित विभिन्न स्थानों पर ले जाया गया और बाहर क्या हो रहा था, इसकी उन्हें कोई जानकारी नहीं थी। उन्होंने यह भी कहा कि उनके खिलाफ कई मामले दर्ज हैं, जिनमें आतंकवाद के आरोप भी शामिल हैं। उन्होंने और गिरफ्तारी वारंट देखने की मांग की।


उन्होंने उन लोगों की भी आलोचना की जो चुनाव के बजाय अराजकता चाहते हैं और कहा कि चुनाव चाहने वाली पार्टी इस तरह के व्यवहार का समर्थन नहीं करेगी। समा टीवी ने बताया कि पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के अध्यक्ष ने अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं से सार्वजनिक और निजी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने से बचने का आग्रह किया है।

इससे पहले आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के दौरान भी इमरान ने जनता से शांतिपूर्वक विरोध करने और देश को नुकसान नहीं पहुंचाने की अपील की थी। सुनवाई के बाद शीर्ष अदालत ने पाकिस्तान के भ्रष्टाचार विरोधी निकाय द्वारा इमरान की गिरफ्तारी को अवैध करार देते हुए फैसला सुनाया कि पीटीआई प्रमुख को तुरंत रिहा किया जाना चाहिए। इमरान को राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (एनएबी) ने गिरफ्तार किया था।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


/* */