लंदन में लात-घूंसों से पिटने वाले पाकिस्तान के मंत्री पर अपने ही देश में लगा प्रतिबंध, जानें क्या है वजह

इस्लामाबाद प्रेस क्लब ने पत्रकारों, वीडियो और फोटो जर्नलिस्टों से प्रतिबंध का पालन करने की अपील की और साथ ही देश भर के प्रेस क्लबों से सात दिनों के लिए रशीद के प्रवेश पर प्रतिबंध लगाने का अनुरोध किया है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

इस्लामाबाद में नेशनल प्रेस क्लब (एनपीसी) ने संघीय रेल मंत्री शेख रशीद के परिसर में प्रवेश और कवरेज पर अस्थायी प्रतिबंध लगा दिया है। मंत्री ने कैंसर से जूझ रहे एक पत्रकार के लिए कथित तौर पर 'अपमानजनक' भाषा का इस्तेमाल किया था, जिसके कारण यह कदम उठाया गया। समाचार पत्र डॉन ने यह जानकारी दी।

प्रेस क्लब की ओर से जारी एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि मंगलवार को एनपीसी अध्यक्ष शकील करार की जियो टीवी वीडियो पत्रकार नासिर से मुलाकात के बाद यह फैसला लिया गया। नासिर का रावलपिंडी के बेनजीर भुट्टो अस्पताल में कैंसर का इलाज चल रहा है।

प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिक, नासिर ने करार को बताया था कि हाल ही में रशीद द्वारा अस्पताल के दौरे के दौरान, एक स्थानीय पत्रकार ने मंत्री का ध्यान नासिर की बीमारी की ओर दिलाया। इस पर, रेल मंत्री ने 'अपमानजनक वाक्य कहे जिससे नासिर की भावनाओं को चोट पहुंची।'

बयान के अनुसार, इस कारण से रावलपिंडी और इस्लामाबाद में शेख रशीद के कवरेज और एनपीसी इस्लामाबाद और रावलपिंडी कैंप कार्यालय में उनके प्रवेश पर एक सप्ताह के लिए प्रतिबंध लगाने का निर्णय लिया गया।

हालांकि एनपीसी ने रशीद द्वारा की गई टिप्पणी का खुलासा नहीं किया। लेकिन प्रेस क्लब ने उनकी निंदा करते हुए कि मंत्री ने कैंसर से जूझ रहे वीडियो पत्रकार के लिए अपमानजनक शब्दों का प्रयोग किया।

प्रेस क्लब ने पत्रकारों, वीडियो और फोटो जर्नलिस्टों से प्रतिबंध का पालन करने की अपील की और साथ ही देश भर के प्रेस क्लबों से सात दिनों के लिए रशीद के प्रवेश पर प्रतिबंध लगाने का अनुरोध किया है।

(आईएएनएस इनपुट के साथ)

लोकप्रिय