जोरदार भूकंप के बाद लगातार 17 झटकों से दहला ईरान, 1 की मौत 47 घायल, कई घर जमींदोज

ईरानी सीस्मोलॉजिकल सेंटर द्वारा पहले झटके के बाद अगले पांच घंटों में दर्ज 17 झटकों में से 8 की तीव्रता 4 से 4.5 के बीच थी। ईरानी रेड क्रिसेंट (आईआरसी) के अनुसार, होर्मोजगन प्रांत की राजधानी में एक 22 वर्षीय लड़की की मौत बिजली के खंभे से गिरने से हो गई।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

ईरान को भूकंप के जोरदार झटकों ने दहला दिया है। रिक्टर स्केल पर 6.4 तीव्रता के जोरदार भूकंप के बाद देश में 17 से ज्यादा झटके महसूस किए गए जिसमें कई घर जमींदोज हो गए और मकानों की दीवारों में दरार आ गई। मीडिया की रिपोर्ट के अनुसार भूकंप की तबाही में एक व्यक्ति की मौत हो गई और 47 से ज्यादा घायल हुए हैं, जिनमें कुछ की हालत गंभीर बताई जा रही है।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने ईरानी सीस्मोलॉजिकल सेंटर (आईएससी) के हवाले से एक निगरानी रिपोर्ट में कहा कि 6.4 की तीव्रता का भूकंप रविवार को दोपहर 3.37 बजे छोटे अंर्तदेशीय शहर फिन के पास उत्पन्न हुआ। दो मिनट से भी कम समय के बाद, 6.3-तीव्रता का एक आफ्टरशॉक आया, जो उस स्थान के बहुत करीब दक्षिणी प्रांत होर्मोजगन में महसूस किया गया।

पहले झटके के बाद अगले पांच घंटों में आईएससी द्वारा दर्ज 17 भूकंपों में से आठ की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 4 से 4.5 के बीच थी। ईरानी रेड क्रिसेंट (आईआरसी) के अनुसार, होर्मोजगन प्रांत की राजधानी बंदर अब्बास में एक 22 वर्षीय लड़की की मौत बिजली के खंभे से गिरने की वजह से हो गई।


होर्मोजगन आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय के एक प्रवक्ता ने रविवार रात स्थानीय मीडिया को बताया कि अब तक 47 लोग घायल हुए हैं। होर्मोजगन में आईआरसी के प्रमुख मोख्तार सलाहपुर ने कहा कि आपातकालीन आवास के लिए आवश्यक उपकरण रात के लिए पार्कों, स्कूलों और खेलों के हॉल में तैनात किए गए हैं और कंबल और टेंट जैसे सामान प्रभावित क्षेत्रों में भेजे गए हैं।

होर्मोजगन के गवर्नर मेहदी डौस्टी के अनुसार फिन में कुछ जानवर भूकंप में मारे गए हैं और होर्मोजगन, करमन और फार्स के कई हिस्सों में यातायात को प्रतिबंधित करना पड़ा है। प्रभावित क्षेत्रों में कई लोगों की बिजली, टेलीफोन और इंटरनेट सेवाओं तक पहुंच बाधित हुई है। गवर्नर के अनुसार आवश्यक सेवाओं को फिर से शुरू करने के लिए युद्धस्तर पर प्रयास किये जा रहे हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia