अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने फिर बोला झूठ, भारत ने साफ कहा- चीन पर मोदी-ट्रंप के बीच नहीं हुई कोई बातचीत

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने इससे पहले मध्यस्थता को लेकर 27 मई को कहा था कि हमने भारत और चीन दोनों को सूचित किया है कि अमेरिका उनके इस समय जोर पकड़ रहे बॉर्डर विवाद में मध्यस्थता करने के लिए तैयार, इच्छुक और सक्षम है, धन्यवाद।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

भारत ने पीएम नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच हाल में हुई किसी भी बातचीत का खंडन किया है। भारत सरकार के मुताबिक, पीएम मोदी और ट्रंप के बीच आखिरी बातचीत 4 अप्रैल को हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन के मुद्दे पर हुई थी। न्यूज एजेंसी एएनआई ने सूत्रों के हवाले से यह खबर दी है।

गौरतलब है कि भारत और चीन के बीच जारी सीमा विवाद के बीच अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का एक बार फिर बयान आया है। ट्रंप ने पीएम मोदी का नाम लेते हुए कहा कि भारत-चीन विवाद पर उनका (पीएम मोदी) मूड ठीक नहीं है। व्हाइट हाउस में प्रेस से बात करते हुए ट्रंप ने भारत-चीन के बीच चल रहे विवाद से जुड़े सवाल पर कहा, “दोनों देशों के बीच बड़ा विवाद है। 1.4 बिलियन लोगों और दोनों देशों की बेहद ताकतवर सेना के बीच यह विवाद है। भारत खुश नहीं है और यह भी संभव है कि चीन भी खुश नहीं है। मैंने पीएम मोदी से बात की थी, चीन के साथ जो भी चल रहा है, उस पर उनका मूड ठीक नहीं है।” राष्ट्रपति ट्रंप के इसी बयान का भारत ने खंडन किया है। ऐसे में सवाल यह है कि क्या अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप में झूठ बोला है?

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने इससे पहले मध्यस्थता को लेकर 27 मई को ट्वीट किया था, “हमने भारत और चीन दोनों को सूचित किया है कि अमेरिका उनके इस समय जोर पकड़ रहे बॉर्डर विवाद में मध्यस्थता करने के लिए तैयार, इच्छुक और सक्षम है, धन्यवाद।”

इससे पहले भारत की ओर से रविवार को कहा गया था कि वह चीन के साथ इस विवाद को शांतिपूर्ण तरीके से हल करना चाहता है। चीन की ओर से भी बातचीत के जरिए हल निकाले जाने की बात कही जा रही है। चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजिआन ने बुधवार को बीजिंग में कहा था कि चीन और भारत के पास बातचीत के सभी विकल्प मौजूद हैं और इसके जरिए इस मसले को हल किया जा सकता है।


बतां दें कि अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप कोरोना वायरस को लेकर लगातार चीन पर निशाना साध रहे हैं। गुरुवार को एक ट्वीट में उन्होंने इस कोरोना वायरस को 'चीन की ओर से दुनिया को बेहद खराब तोहफा' करार दिया था। ट्रंप चीन पर दुनिया भर में कोरोना महामारी फैलाने और बड़े पैमाने पर हत्याओं को अंजाम देने का आरोप लगा चुके हैं। इससे पहले ट्रंप ने एक और ट्वीट में लिखा था, “चीन में कुछ सिरफिरे कोरोना के लिए अन्य लोगों को दोष दे रहे हैं, जबकि चीन की नाकामी ने दुनिया भर में हत्याओं को अंजाम दिया। यह चीन की अक्षमता के अलावा कुछ नहीं है।”

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 29 May 2020, 9:07 AM