चीन के चंगुल में फंस आर्थिक कंगाली की ओर बढ़ रहा एक और देश! आसमान छू रही आवश्यक वस्तुओं की कीमतें

देश के केंद्रीय बैंक द्वारा श्रीलंकाई रुपये (एलकेआर) को 230 रुपये प्रति अमेरिकी डॉलर के अवमूल्यन की अनुमति देने के बाद श्रीलंका में शुक्रवार को कई आवश्यक वस्तुओं की कीमतों में काफी वृद्धि दर्ज की गई है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

देश के केंद्रीय बैंक द्वारा श्रीलंकाई रुपये (एलकेआर) को 230 रुपये प्रति अमेरिकी डॉलर के अवमूल्यन की अनुमति देने के बाद श्रीलंका में शुक्रवार को कई आवश्यक वस्तुओं की कीमतों में काफी वृद्धि दर्ज की गई है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, शुक्रवार को ऑल सीलोन बेकरी ओनर्स एसोसिएशन ने एक ब्रेड के पैकेट की कीमत में 30 एलकेआर की वृद्धि की है और अब एक ब्रेड के पैकेट की नई कीमत 110 से 130 श्रीलंकाई रुपये के बीच है।

देश के सबसे बड़े गेहूं आयातक प्राइमा ने एक किलो गेहूं के आटे की कीमत में 35 एलकेआर की बढ़ोतरी की है। इस बीच, देश के दूसरे सबसे बड़े खुदरा ईंधन वितरक लंका इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन ने गुरुवार आधी रात को डीजल के विक्रय मूल्य में 75 एलकेआर प्रति लीटर और पेट्रोल में 50 एलकेआर प्रति लीटर की वृद्धि की है।

तिपहिया और बस मालिकों की एसोसिएशन ने ईंधन सब्सिडी की मांग करते हुए दावा किया है कि लंका इंडिया ऑयल कॉर्पोरेशन द्वारा ईंधन की कीमतों में बढ़ोतरी के साथ किराए में भारी वृद्धि होगी।


ऑल सीलोन प्राइवेट बस ओनर्स एसोसिएशन चेयरमैन अंजना प्रियंजीत ने चेतावनी दी कि न्यूनतम बस किराया 30 से 35 एलकेआर के बीच होगा। इसे देखते हुए उन्होंने सरकार से निजी बस मालिकों के लिए डीजल सब्सिडी प्रदान करने का आग्रह किया। श्रीलंका के नागरिक उड्डयन प्राधिकरण ने कहा कि एयरलाइन टिकटों की कीमत में 27 प्रतिशत की वृद्धि की गई है।

बता दें कि चीन के कर्ज के जाल में फंसे श्रीलंका में हर दिन के साथ हालात और भी बदतर होते जा रहे हैं। देश में खाद्य संकट इस कदर गहरा गया है कि लोगों के लिए पेट भरना तक मुश्किल हो गया है। देश का विदेशी मुद्रा भंडार लगातार कम होता जा रहा है और महंगाई की मार ने जनता को बेहाल कर दिया है। दरअसल, चीन सहित कई देशों के कर्ज तले दबा श्रीलंका अब दिवालिया होने के कगार पर पहुंच चुका है।


श्रीलंका के सेंट्रल बैंक ने सोमवार को एलकेआर को घरेलू मोर्चे पर बाहरी झटके और हाल के घटनाक्रम की गंभीरता को देखते हुए अवमूल्यन करने की अनुमति दी थी। एलकेआर की बात करें तो गुरुवार को मूल्यह्रास से पहले इसमें 200 प्रति डॉलर से 260 प्रति अमेरिकी डॉलर का मूल्यह्रास देखा गया है।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 11 Mar 2022, 6:26 PM