दुनिया

अमेरिका और ईरान से तनाव के बीच सऊदी अरब के तेल टैंकरों पर हमला  

अमेरिका और ईरान के बीच बढ़ते तनाव के माहौल के बीच सऊदी अरब के तेल टैंकरों पर हमला हुआ है। सऊदी अरब ने सोमवार को कहा कि संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के जलक्षेत्र में उसके दो टैंकरों पर हमला हुआ। इस हमले से काफी नुकसान पहुंचा है।

प्रतीकात्मक तस्वीर

आईएएनएस

सऊदी अरब ने खाड़ी में बढ़ते तनाव के बीच सोमवार को कहा कि संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के तट के पास उसके दो तेल टैंकरों को नुकसान पहुंचाया गया है। इससे पहले यूएई ने कहा था कि उसके चार जहाजों को नुकसान पहुंचाया गया है।

सऊदी प्रेस एजेंसी (एसपीए) के अनुसार, सऊदी अरब के ऊर्जा मंत्री खालिद अल-फलीह ने कहा कि फुजैरा के तट के पास दो सऊदी तेल टैंकरों को नुकसान पहुंचाया गया। इनमें से एक रास तनुरा के बंदरगाह से सऊदी कच्चे तेल के साथ अमेरिका में ग्राहकों के लिए जा रहा था।

समाचार एजेंसी ने घटना में किसी के हताहत होने और तेल के रिसाव के बारे में कोई जानकारी नहीं दी, लेकिन कहा कि हमले में 'दो जहाजों की संरचनाओं को काफी नुकसान पहुंचा है।' एजेंसी ने इसे 'वैश्विक तेल आपूर्ति के लिए खतरा बताया।'

सऊदी मंत्री ने अंतर्राष्ट्रीय समुदायों से ऊर्जा बाजारों और वैश्विक अर्थव्यवस्था के लिए 'प्रतिकूल परिणामों' को रोकने के लिए समुद्री यात्रा और तेल टैंकरों की सुरक्षा सुनिश्चित करने का आह्वान किया।

यूएई सरकार ने रिपोर्ट का समर्थन करते हुए बयान जारी कर कहा कि रविवार रात को उसके चार वाणिज्यिक कार्गो जहाजों को पूर्वी तटों के पास नुकसान पहुंचाया गया।

देश के विदेश एवं अंतर्राष्ट्रीय सहयोग मंत्रालय ने कहा कि हमला अमीरात फुजैरा में ओमान की खाड़ी के पास यूएई के प्रादेशिक जल में हुआ।

यह अभी तक साफ नहीं हो पाया है कि क्या सऊदी अरब और यूएई द्वारा एक ही घटना के बारे में बताया जा रहा है।

यूएई के मंत्रालय ने कहा है कि मामले को लेकर स्थानीय और अंतर्राष्ट्रीय निकाय के साथ जांच की जा रही है। मंत्रालय ने इसे 'भंयकर कृत्य' बताया। घटना में किसी के मरने या घायल होने की बात नहीं कही जा रही है।

लोकप्रिय