उज्बेकिस्तान एयर फोर्स की बड़ी कार्रवाई? 46 अफगान विमान लैंड करने को हुए मजबूर, लड़ाकू जेट से टकराया एम्ब्रेयर -314

उज्बेक वायु सेना ने पिछले दो दिनों में 46 अफगान विमानों को लैंड के लिए मजबूर किया है। उज्बेक अभियोजक जनरलों के कार्यालय की प्रेस सेवा ने यह जानकारी दी।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

उज्बेक वायु सेना ने पिछले दो दिनों में 46 अफगान विमानों को लैंड के लिए मजबूर किया है। उज्बेक अभियोजक जनरलों के कार्यालय की प्रेस सेवा ने यह जानकारी दी।

टीएएसएस न्यूज एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार, अभियोजक जनरल के कार्यालय के प्रवक्ता खयेत शमसुतदीनोव ने कहा, "विमानों को टर्मेज अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर उतरने के लिए मजबूर किया गया। विमानों में 585 सशस्त्र सैनिक थे, जो अवैध रूप से उज्बेकिस्तान के हवाई क्षेत्र को पार करने की कोशिश कर रहे थे।"

प्रवक्ता के अनुसार, हवाई क्षेत्र के उल्लंघनकर्ताओं को लैंड कराने के लिए मजबूर करने के प्रयास में, उज्बेक वायु सेना का एक मिग -29 लड़ाकू जेट अफगानिस्तान से उड़ान भरने वाले एम्ब्रेयर -314 विमान से टकरा गया।


विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गए, लेकिन उनके पायलट सुरक्षित रूप से अपने विमान से बाहर निकल गए। इसके अलावा, 158 अफगान नागरिकों को उज्बेक सीमा प्रहरियों ने दो दिनों में टर्मेज जिले में हिरासत में लिया है।

तालिबान का दावा है कि युद्ध खत्म हो गया है लेकिन विशेषज्ञों का मानना है कि अफगानिस्तान से शरणार्थियों का प्रवाह लंबे समय तक जारी रहेगा। टोलो न्यूज ने सोमवार को बताया कि रविवार शाम को अफगानिस्तान की राजधानी काबुल से पड़ोसी ताजिकिस्तान और उज्बेकिस्तान के लिए 40 से अधिक यात्री उड़ानें भरी गईं।



टीवी चैनल ने कहा कि ज्यादातर यात्री अफगान नागरिक, हवाई अड्डे और विमानन क्षेत्र के कर्मचारी हैं। ताजिकिस्तान में अफगानिस्तान के राजदूत ने काबुल से आने वाले विमानों का स्वागत किया। तालिबान के काबुल में प्रवेश करने के बाद अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी देश छोड़कर भाग गए हैं।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 17 Aug 2021, 2:10 PM