काबुल हवाईअड्डे पर हमले में मारे गए अमेरिकी सैनिकों को लेकर बड़ा खुलासा, पेंटागन ने जारी किए उनसे जुड़ी यादें और उनके नाम

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, 26 अगस्त को काबुल हवाईअड्डे पर हुए बम विस्फोट में मारे गए 13 अमेरिकी सैनिकों में से 12 बच्चे 20 साल पहले पैदा हुए थे। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक अफगानिस्तान और इराक में पेंटागन ने 28 अगस्त को उनके नाम और उनसे जुड़ी यादों को जारी किया है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, 26 अगस्त को काबुल हवाईअड्डे पर हुए बम विस्फोट में मारे गए 13 अमेरिकी सैनिकों में से 12 बच्चे 20 साल पहले पैदा हुए थे। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक अफगानिस्तान और इराक में पेंटागन ने 28 अगस्त को उनके नाम और उनसे जुड़ी यादों को जारी किया है। पीड़ितो में ज्यादातर 20 से 25 वर्ष की आयु के 11 सितंबर, 2001 को आतंकवादी हमलों के कुछ वर्षों के भीतर पैदा हुए थे, जिसके कारण अमेरिका ने दो लंबे और दर्दनाक युद्ध शुरू किए।

23 वर्षीय मरीन कॉर्प्स सार्जेंट के मित्र मैलोरी हैरिसन ने कहा, हमारी पीढ़ी के मरीन इराक और अफगान पशु चिकित्सकों को वर्षों से अपनी युद्ध की कहानियां सुनाते रहे हैं। हैरिसन ने कहा, उस युद्ध और उन कहानियों के लिए कुछ दूर की तरह ध्वनि करना आसान है - ऐसा कुछ जो आपको लगता है कि आप कभी भी अनुभव नहीं करेंगे क्योंकि आप समुद्री समय के दौरान समुद्री कोर में शामिल हो गए थे।


अफगानिस्तान में सक्रिय इस्लामिक स्टेट के एक कट्टरपंथी सहयोगी आईएस-के ने घातक हमले की जिम्मेदारी ली थी, जिसमें दावा किया गया था कि काबुल हवाई अड्डे के बाहर लगभग 170 अफगान लोग रहते हैं। रविवार को 13 जवानों के अवशेषों को अमेरिका वापस स्वदेश लाया गया।

राष्ट्रपति जो बिडेन, प्रथम महिला जिल बिडेन, राज्य सचिव एंटनी ब्लिंकन, रक्षा सचिव लॉयड ऑस्टिन, संयुक्त प्रमुखों के अध्यक्ष मार्क मिले और अन्य वरिष्ठ सैन्य अधिकारियों ने डेलावेयर राज्य में डोवर वायुसेना बेस में एक गंभीर समारोह में भाग लिया जहां उनके पार्थिव शरीर पहुंचे।


राष्ट्रपति और प्रथम महिला ने पीड़ितों के परिवारों के साथ निजी तौर पर मुलाकात की और 11 सैनिकों के पार्थिव शरीर को वैन में लादने से पहले झंडे में लिपटे उनका अवलोकन किया।व्हाइट हाउस ने कहा कि 14 अगस्त से अब तक करीब 111,900 लोग अफगानिस्तान छोड़ चुके हैं। अफगानिस्तान से अमेरिका की वापसी 31 अगस्त तक पूरी होने वाली है, जो राष्ट्रपति जो बाइडेन द्वारा निर्धारित समय सीमा है।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia