दुनिया की बड़ी खबरेंः पाकिस्तान में हिंदुओं को मिला 200 साल पुराना मंदिर और थाईलैंड में सैनिक ने ली 17 की जान

पाकिस्तान के बलोचिस्तान प्रांत के जिले सोब में 200 साल पुराने एक मंदिर को हिंदू समुदाय को सौंप दिया गया है। उधर थाईलैंड के कोरात शहर में शनिवार को एक सिरफिरे सैनिक ने आम लोगों पर अंधाधुंध गोलियां बरसाकर 17 लोगों को मौत के घाट उतार दिया है।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

पाकिस्तानः हिंदू समुदाय को सौंपा गया 200 साल पुराना मंदिर

पाकिस्तान के बलोचिस्तान प्रांत के जिले सोब में 200 साल पुराने एक मंदिर को हिंदू समुदाय को सौंप दिया गया है। पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक, 70 साल के बाद यह मंदिर हिंदू समुदाय को मिला है। बीते तीस साल से इसमें एक स्कूल चल रहा था जिसे अब यहां से स्थानांतरित कर दिया गया है।

चार कमरों वाले इस मंदिर की चाबी एक समारोह में हिंदू समुदाय के नेताओं को सौंपी गई। समारोह मंदिर के सामने हुआ जिसमें बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए। इसमें अन्य धार्मिक अल्पसंख्यक समुदाय के सदस्य, सामाजिक और राजनैतिक संगठनों के सदस्य शामिल थे। सोब की केंद्रीय मस्जिद के इमाम और जमीयते उलेमाए इस्लाम के नेता मौलाना अल्लाह दाद काकर समारोह के मुख्य अतिथि थे। मौलाना काकर ने स्थानीय हिंदू पंचायत के अध्यक्ष सलीम जान को मंदिर की चाबी सौंपी।

विवादित मौलाना ने इस्लामाबाद की लाल मस्जिद पर फिर किया कब्जा

बीती दो सरकारों की नाक में दम करने के बाद एक बार फिर विवादित मौलाना अब्दुल अजीज ने इस्लामाबााद की लाल मस्जिद पर कब्जा कर लिया है। अजीज का कहना है कि सरकारी नियंत्रण वाली इस मस्जिद का उन्हें फिर से इमाम बनाया जाए। इस घटनाक्रम के बाद से इस्लामाबाद के मस्जिद के पास के इलाके में तनाव फैल गया है और मस्जिद के इर्द-गिर्द बड़ी संख्या में सुरक्षाकर्मी तैनात कर मौलाना को बाहर निकालने की कोशिश की जा रही है।

'डॉन' की रिपोर्ट के अनुसार, मौलाना अब्दुल अजीज के साथ उनके जामिया हफ्सा मदरसे की सौ से अधिक छात्राएं भी मस्जिद में मौजूद हैं और मौलाना का समर्थन कर रही हैं। इससे स्थिति और नाजुक हो गई है। चरमपंथी सोच वाले मौलाना अजीज को इस मस्जिद के इमाम के पद से हटा दिया गया था। उनकी मांग है कि उन्हें इस पर पर बहाल किया जाए। रिपोर्ट में कहा गया कि मस्जिद में फिलहाल कोई इमाम या उप इमाम नहीं थे, जिसका फायदा उठाकर अजीज दो हफ्ते पहले मस्जिद में दाखिल हो गए। प्रशासन ने वक्त रहते कार्रवाई नहीं की और अब नतीजा है कि मौलाना सौ छात्राओं के साथ मस्जिद के बड़े हिस्से को बंद कर अंदर है और बाहर सुरक्षाकर्मी मस्जिद की घेराबंदी किए हुए हैं।

थाईलैंड में सैनिक ने गोली मारकर कई लोगों को मौत के घाट उतारा

थाईलैंड के पूर्वोत्तर में स्थित कोरात शहर में शनिवार को एक सिरफिरे सैनिक ने आम लोगों पर अंधाधुंध गोलियां बरसाकर 17 लोगों को मौत के घाट उतार दिया है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने मौतों की पुष्टी की है। बताया जा रहा है कि इस फायरिंग में आम नागरिकों के साथ ही पुलिस अधिकारियों की भी मौत हुई है।

स्थानीय मीडिया के मुताबिक, यह घटना थाईलैंड के पूर्वोत्तर शहर कोरात की है, जहां सेना की एक गाड़ी में सवार होकर सैनिक लोगों पर अंधाधुंध गोलियां बरसाता चला गया। सैनिक का नाम जाकरापंथ थोमा बताया जा रहा है, जो इस गोलीबारी को सोशल मीडिया पर लाइव भी कर रहा था।जानकारी के मुताबिक उसने सबसे पहले सैन्य बेस में अपने कमांडर और दो अन्य जवानों को मार डाला और उसके बाद शॉपिंग मॉल में करीब 20 लोगों को बंधक बना लिया। उसने फेसबुक पर अपनी एक पोस्ट में लिखा कि उसे बदला लेना था।

कोरोना वायरस से अब तक 722 की मौत

चीन में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। शुक्रवार को 86 लोगों की मौत की पुष्टि हुई और 3399 नए केस सामने आए। इनमें सबसे ज्यादा 81 मौतें अकेले वुहान में हुईं, जो कि इस वायरस के संक्रमण का केंद्र माना जा रहा है। चीन के स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, इस वायरस की चपेट में आकर अब तक 722 लोगों की मौत हो चुकी है। जबकि अब तक 34546 मामले सामने आ चुके हैं।

कोरोना वायरस से अमेरिकी नागरिक की चीन में मौत

तेजी से फैल रहे कोरोना वायरस की वजह से चीन के वुहान में एक 60 साल के अमेरिकी व्यक्ति की मौत हो गई है। बीजिंग में अमेरिकी दूतावास ने शनिवार को यह जानकारी दी। दूतावास ने एक बयान में कहा, "हम एक 60 वर्षीय अमेरिकी नागरिक की 6 फरवरी को चीन के वुहान के एक अस्पताल में कोरोना वायरस से मौत की पुष्टि करते हैं। हालांकि दूतावास ने पीड़ित की पहचान नहीं जाहीर की है।

यह कोरोना वायरस से किसी अमेरिकी नागरिक की पहली मौत की सूचना है। चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग के अनुसार, शनिवार को महामारी से चीन में मरने वालों की संख्या बढ़कर 722 हो गई है। चीन के बाहर हांगकांग और फिलीपींस में भी इस वाय़रस से दो लोगों की मौत की सूचना है।

लोकप्रिय