दुनिया की खबरें: इजराइल में महंगाई ने तोड़ा 11 साल का रिकॉर्ड, अफगानिस्तान में खाना खाकर 42 लोग पड़े बीमार

संयुक्त राष्ट्र ने गंभीर अकाल की चेतावनी जारी करते हुए कहा है कि अफ्रीका के इथियोपिया, सोमालिया और केन्या में सूखे का संकट और गहरा सकता है। पाकिस्तान में 2021 में बाल शोषण के मामलों में बढ़ोतरी हुई है, जिसमें अधिकांश घटनाएं युवा लड़कों से जुड़ी हुई हैं।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

इजराइल में महंगाई ने तोड़ा 11 साल का रिकॉर्ड

इजराइल में गत माह मुद्रास्फीति दर करीब 11 साल के उच्चतम स्तर चार फीसदी पर पहुंच गई। मार्च 2022 में मुद्रास्फीति दर 3.5 प्रतिशत थी। इसकी जानकारी इजराइली सांख्यिकी ब्यूरो ने दी। इजराइली सांख्यिकी ब्यूरो की जानकारी के मुताबिक, सब्जियों की कीमतों में 5.5 प्रतिशत की बढ़ोतरी देखी गई, तो वहीं कपड़ों की कीमतों में 2.8 प्रतिशत की वृद्धि हुई।

समाचार एजेंसी शिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, यह साल-दर-साल उपभोक्ता मूल्य सूचकांक का लगातार तीसरा महीना है, जो सरकारी लक्ष्य 1-3 प्रतिशत से ऊपर है। ब्यूरो के आंकड़ों के अनुसार, फरवरी-मार्च के बीच इजराइल में प्रॉपर्टी की कीमतों में 16.3 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई है, जो लगभग 12 सालों के रियल एस्टेट लेनदेन की कीमतों में सबसे अधिक है।

अफगानिस्तान में शादी का खाना खाकर 42 लोग पड़े बीमार, अस्पताल में भर्ती

अफगानिस्तान के तखर प्रांत में खाना खाने के बाद 42 लोग बीमार पड़ गए। समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने प्रांतीय पुलिस के एक अधिकारी के हवाले से बताया कि घटना रविवार रात चाह हब जिले के तखान आबाद गांव में एक शादी समारोह की है। इसके अलावा अधिकारी ने बताया कि इन मरीजों में दुल्हा और दुल्हन भी शामिल थे।

बीमार हुए सभी लोगों को जिला अस्पताल ले जाया गया जहां उनका इलाज किया जा रहा है।मामले को लेकर एक अधिकारी ने कहा कि, इसमें तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है और मामले की जांच की जा रही है।

दुनिया की खबरें: इजराइल में महंगाई ने तोड़ा 11 साल का रिकॉर्ड, अफगानिस्तान में खाना खाकर 42 लोग पड़े बीमार

इथियोपिया, सोमालिया और केन्या में गहरा सकता है सूखे का संकट

अफ्रीका के इथियोपिया, सोमालिया और केन्या में सूखे का संकट और भी गहरा सकता है। दरअसल, संयुक्त राष्ट्र ने गंभीर आकाल पड़ने की चेतावनी जारी की है। यहां सूखे से 1 करोड़ 80 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित है। मानवीय मामलों के अवर महासचिव और आपातकालीन राहत समन्वयक मार्टिन ग्रिफिथ्स ने दो दिवसीय केन्या यात्रा की और वहां की स्थिति का जायजा लिया।

ग्रिफिथ्स ने केन्या की राजधानी नैरोबी में जारी एक बयान में कहा, "हम कई महीनों से लोगों को इस संकट की स्थिति में मदद के लिए आगे आने की अपील कर रहे है।" समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, उन्होंने कहा कि अपनी यात्रा के दौरान, उत्तर पश्चिमी केन्या के लोमोपस गांव, डुलो, सोमालिया और इथियोपिया के कोरेहे क्षेत्र के लोगों के साथ बात की। ग्रिफिथ्स ने कहा, "जिन लोगों से मैंने बात की, उससे स्पष्ट था कि यह संकट उनके जीवन पर बुरा प्रभाव डाल रहा है। उन्हें मदद की जरुरत है।"

दुनिया की खबरें: इजराइल में महंगाई ने तोड़ा 11 साल का रिकॉर्ड, अफगानिस्तान में खाना खाकर 42 लोग पड़े बीमार

इंडोनेशिया में बस दुर्घटना में 15 की मौत, 16 लोग घायल

इंडोनेशिया के पूर्वी जावा प्रांत में सोमवार को एक बस दुर्घटना में 15 लोगों की मौत हो गई और 16 अन्य घायल हो गए। अधिकारियों ने इसकी पुष्टि की है। हादसा मोजोकर्तो जिले में हुआ। एक खोज एवं बचाव अधिकारी ने समाचार एजेंसी सिन्हुआ को बताया कि बस सड़क के किनारे स्थित एक पोल से टकरा गई। जिसकी वजह से यह हादसा हुआ।

दुर्घटना के कारणों का पता लगाने के लिए पुलिस जांच कर रही है। डॉ. वहीदीन सुदिरोहुसोदो अस्पताल की आपातकालीन इकाई के प्रभारी चिकित्सक ने कहा कि "13 शव यहां हैं, एक स्रिटा मेडिका अस्पताल में और दूसरा बसोनी अस्पताल में है।"

दुनिया की खबरें: इजराइल में महंगाई ने तोड़ा 11 साल का रिकॉर्ड, अफगानिस्तान में खाना खाकर 42 लोग पड़े बीमार

पाकिस्तान में बाल शोषण में बढ़ोतरी, कोविड के दौरान चरम पर पहुंचा

पाकिस्तान में 2021 में बाल शोषण के मामलों में बढ़ोतरी हुई है, जिसमें अधिकांश घटनाएं युवा लड़कों से जुड़ी हुई हैं। बाल संरक्षण के लिए काम कर रहे एक गैर-सरकारी संगठन साहिल (एसएएएचआईएल) के विवरण से चौंकाने वाले आंकड़े सामने आए हैं, जो देश के प्रमुख शहरों से बाल शोषण के मामलों में भारी उछाल दिखाते हैं। विवरण के अनुसार, पंजाब प्रांत के कसूर शहर ने बड़े पैमाने पर बाल शोषण और बाल पोर्नोग्राफी के मामलों की रिपोर्ट ने वैश्विक ध्यान आकर्षित किया है। यह शहर 2021 में कम से कम 298 घटनाओं के साथ सूची में शीर्ष पर बना हुआ है।

हैरानी की बात है कि जुड़वां शहर रावलपिंडी और राजधानी इस्लामाबाद इस सूची में दूसरे और तीसरे स्थान पर हैं, जहां 292 मामले और 247 मामले सामने आए। साहिल ने अपने निष्कर्ष में खुलासा किया, "वर्ष 2021 मे कुल 3,852 मामलों में से आधे से अधिक (52 प्रतिशत) 10 जिलों से सामने आए थे।" कसूर, इस्लामाबाद और रावलपिंडी के अलावा फैसलाबाद (237), गुजरांवाला (198), सियालकोट (186), खैरपुर (152), लाहौर (150), ओकारा (120) और मुजफ्फरगढ़ (107) में भी मामले दर्ज किए गए।

दुनिया की खबरें: इजराइल में महंगाई ने तोड़ा 11 साल का रिकॉर्ड, अफगानिस्तान में खाना खाकर 42 लोग पड़े बीमार

2021 में दुर्व्यवहार के मामलों की संख्या 1,000 थी, जो 2020 की पहली छमाही से कम से कम 14 प्रतिशत की वृद्धि थी। साहिल ने कहा कि देश में यौन शोषण के मामलों में वृद्धि के पीछे कोविड -19 महामारी प्रमुख कारणों में से एक थी। उन्होंने कहा कि बच्चे घर पर थे और उनके 55 प्रतिशत से अधिक दुर्व्यवहार करने वाले परिचित थे। दिलचस्प बात यह है कि साहिल द्वारा रिपोर्ट किए गए बाल यौन शोषण के मामलों की संख्या से पता चलता है कि लड़कियों की तुलना में कम उम्र के लड़कों का अधिक शोषण किया गया।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia