दुनिया की खबरें: इस विद्वान ने नाटो विस्तार को बताया रूस-यूक्रेन युद्ध की जड़, इमरान ने अमेरिका पर फिर लगाया आरोप

क्यूबा के विभिन्न क्षेत्रों में 1 मई को अंतरराष्ट्रीय श्रमिक दिवस पर लाखों लोगों ने सड़क पर उतरकर अमेरिकी प्रतिबंध का विरोध किया। ईरान के एक शीर्ष कमांडर ने कहा कि खाड़ी में अमेरिका के लिए कोई जगह नहीं है क्योंकि क्षेत्रीय देश अपनी सुरक्षा खुद कर सकते हैं।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

अमेरिकी विद्वान ने नाटो विस्तार को बताया रूस-यूक्रेन संघर्ष का मूल कारण

अमेरिका में शिकागो विश्वविद्यालय में राजनीति विज्ञान के प्रोफेसर जॉन मीयर-शेमर ने हाल ही में चीनी समाचार एजेंसी शिन्हुआ को दिए एक इंटरव्यू में कहा कि रूस और यूक्रेन के बीच संघर्ष का मूल कारण नाटो का विस्तार है, और रूस केवल इसका जवाब दे रहा है। विश्व-प्रसिद्ध राजनीति विज्ञान और अंतर्राष्ट्रीय संबंधों के विद्वान के रूप में मीयर-शेमर का मानना है कि अमेरिका और उसके यूरोपीय सहयोगी चाहते हैं कि यूक्रेन नाटो और पश्चिम में शामिल हो। लेकिन रूस के लिए यह स्पष्ट रूप से अस्वीकार्य है। उनका कहना है कि रूस के साथ अपनी सीमा पर यूक्रेन को एक बांध बनाने का पश्चिम का प्रयास रूस के लिए एक संभावित खतरा बन गया है और संकट का स्रोत है।

मीयर-शेमर ने कहा कि अमेरिका और रूस दोनों जीतने के लिए दृढ़ हैं, और ऐसी परिस्थितियों में किसी प्रकार के शांति समझौते तक पहुंचना मुश्किल है, और रूसी-यूक्रेनी संघर्ष का 'कोई अंत नहीं है।' उनका यह भी मानना है कि नाटो का विस्तार काफी हद तक यूरोप तक ही सीमित रहेगा।

इमरान ने सत्ता परिवर्तन के लिए बाइडेन प्रशासन को 'साजिश' का हिस्सा बताया

पाकिस्तान के अपदस्थ प्रधानमंत्री इमरान खान ने सोमवार को खुले तौर पर अमेरिका के जो बाइडेन प्रशासन को पाकिस्तान में सत्ता परिवर्तन की 'साजिश' का हिस्सा बताया। जियो न्यूज के मुताबिक, पूर्व प्रधानमंत्री खान ने बार-बार अविश्वास प्रस्ताव का समर्थन करने के लिए अमेरिका को दोषी ठहराया, जिसके कारण 10 अप्रैल को उन्हें पद से हटा दिया गया और नव-निर्वाचित प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ को यह कहते हुए स्वीकार करने से इनकार कर दिया कि "देश कोई बड़ा अपमान नहीं हो सकता।"

इमरान खान ने एक ट्वीट में बाइडेन प्रशासन से पूछा कि क्या उसकी भागीदारी से हुई सत्ता परिवर्तन की 'साजिश' ने पाकिस्तान में अमेरिका विरोधी भावना को कम किया या बढ़ा दिया है?
जियो न्यूज के मुताबिक, खान ने कहा कि "बाइडेन प्रशासन के लिए मेरा सवाल : एक कठपुतली पीएम लाने के लिए 220 मिलियन से अधिक लोगों के देश के लोकतांत्रिक रूप से चुने गए पीएम को हटाने के लिए सत्ता परिवर्तन की साजिश में शामिल होकर क्या आपको लगता है कि आपने पाकिस्तान में अमेरिका विरोधी भावना को कम किया या बढ़ा दिया है।" लेकिन जो बाइडेन प्रशासन ने इस प्रक्रिया में किसी भी भूमिका से इनकार किया है।

दुनिया की खबरें: इस विद्वान ने नाटो विस्तार को बताया रूस-यूक्रेन युद्ध की जड़, इमरान ने अमेरिका पर फिर लगाया आरोप

क्यूबा में मई दिवस जुलूस निकाल अमेरिकी प्रतिंबधों का हुआ विरोध

क्यूबा के विभिन्न क्षेत्रों में 1 मई को अंतरराष्ट्रीय श्रमिक दिवस मनाने के लिए जुलूस निकाले गए। लाखों लोगों ने सड़क पर उतर कर अमेरिकी प्रतिबंध का विरोध किया और देशभक्ति जताई। उस दिन राजधानी हवाना के क्रांति चौक पर क्यूबाई क्रांति के नेता राउल कास्ट्रो और क्यूबा के राष्ट्रपति डियाज कैनेल ने संबंधित कार्यक्रम में भाग लिया।

क्यूबा के मजदूर संघ के महासचिव युनिसेस गुइलार्ट ने क्रांति चौक पर भाषण देते हुए कहा कि क्यूबा के खिलाफ अमेरिका की दीर्घकालिक पाबंदी क्यूबा के विकास की मुख्य बाधा है। अमेरिका प्रतिबंध के जरिये क्यूबा में फूट में डालना चाहता है। इस जुलूस से समाजवादी निर्माण पर क्यूबाई जनता का विश्वास और वादा जाहिर हुआ है। उन्होंने कोविड-19 महामारी के मुकाबले में क्यूबाई वैज्ञानिकों व तकनीशियों की प्रशंसा की।

दुनिया की खबरें: इस विद्वान ने नाटो विस्तार को बताया रूस-यूक्रेन युद्ध की जड़, इमरान ने अमेरिका पर फिर लगाया आरोप

ईरान के शीर्ष कमांडर का दावा- खाड़ी में अमेरिका की 'कोई जगह नहीं'

ईरान के एक शीर्ष कमांडर ने कहा कि खाड़ी में अमेरिका के लिए कोई जगह नहीं है क्योंकि क्षेत्रीय देश अपनी सुरक्षा खुद सुनिश्चित कर सकते हैं। ये जानकारी तस्नीम न्यूज एदेंसी की रिपोर्ट से सामने आई है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, ईरान के इस्लामिक रिवोल्यूशन गार्डस कॉर्प्स (आईआरजीसी) के नौसैनिक कमांडर अलीरेजा तांगसिरी ने यह टिप्पणी की, जिन्होंने यह भी चेतावनी दी कि खाड़ी में ईरान के हितों को खतरे में डालने वाले किसी भी देश को खराब प्रतिक्रिया मिलेगी।

उन्होंने कहा, "ईरान ने बार-बार अपने दक्षिणी पड़ोसियों को शांति और दोस्ती का संदेश दिया है कि यह क्षेत्र अपनी सुरक्षा की गारंटी देने में सक्षम है।" ईरानी कमांडर ने कहा कि आईआरजीसी नौसेना बल लगातार, सक्रिय रूप से और प्रभावी रूप से होर्मुज के जलडमरूमध्य और खाड़ी के उत्तरी भाग में मौजूद हैं और अपने पूर्ण खुफिया प्रभुत्व को देखते हुए इस क्षेत्र में सभी गतिविधियों की निगरानी कर रहे हैं।

दुनिया की खबरें: इस विद्वान ने नाटो विस्तार को बताया रूस-यूक्रेन युद्ध की जड़, इमरान ने अमेरिका पर फिर लगाया आरोप

मनीला में यूनिवर्सिटी के रिहायशी इलाके में लगी आग, 8 लोगों की मौत

मनीला में राज्य विश्वविद्यालय परिसर के एक रिहायशी इलाके में सोमवार को आग लगने से 8 लोगों की मौत हो गई। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, ब्यूरो ऑफ फायर प्रोटेक्शन के अधिकारियों का हवाला देते हुए, स्थानीय रेडियो डीजेडबीबी ने कहा कि पीड़ित अपने घरों में फंस गए थे, जब सुबह करीब 5 बजे क्वेजोन सिटी उपनगर में फिलीपींस विश्वविद्यालय परिसर के अंदर आग लग गई। एक घर में बच्चों सहित 6 पीड़ित पाए गए।

दुनिया की खबरें: इस विद्वान ने नाटो विस्तार को बताया रूस-यूक्रेन युद्ध की जड़, इमरान ने अमेरिका पर फिर लगाया आरोप

रिपोर्ट के अनुसार, आग में लगभग 80 घर जल गए और लगभग 250 परिवार प्रभावित हुए।
भीषण आग से बचने के लिए अपने जलते घरों से बाहर कूदने के बाद कुछ निवासी घायल हो गए। करीब दो घंटे की मशक्कत के बाद दमकल ने आग पर काबू पाया। आग लगने के कारणों पर ब्यूरो ने अभी तक आधिकारिक बयान जारी नहीं किया है। स्थानीय मीडिया के अनुसार, कम्युनिटी में कई घर हल्के मटेरियल से बने थे।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia