दुनिया की खबरें: सोमालिया आत्मघाती हमले में महिला सांसद समेत 15 की मौत और पुतिन की निजी सेना पर ब्रिटेन ने लगाया बैन

सोमालिया के एक मतदान केंद्र में हुए आत्मघाती बम धमाके में प्रमुख महिला सांसद समेत 15 लोगों की मौत हो गई है और ब्रिटेन ने घोषणा की है कि वह वैगनर समूह को प्रतिबंधित करेगा।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

पुतिन की निजी सेना माने जाने वाले वैगनर समूह पर प्रतिबंध लगाएगा

ब्रिटेन ने घोषणा की है कि वह वैगनर समूह को प्रतिबंधित करेगा। यह जानकारी बीबीसी ने दी। वैगनर भाड़े के सैनिकों का एक समूह है, जिसे पहली बार 2014 में पहचाना गया था, जब यह पूर्वी यूक्रेन में संघर्ष के दौरान रूसी समर्थक अलगाववादियों का समर्थन कर रहा था। तब से यह सीरिया, मोजाम्बिक, सूडान और मध्य एशियाई गणराज्य सहित अन्य क्षेत्रों में भी सक्रिय रहा है। इस अर्धसैनिक समूह को व्लादिमीर पुतिन की निजी सेना बताया गया है। बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार, यह चेतावनी दी गई है कि समूह को यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोदिमिर जेलेंस्की की हत्या का काम सौंपा गया है। ब्रिटेन के विदेश सचिव लिज ट्रस ने नए प्रतिबंधों पर अपने बयान में समूह को 'किराए के ठग' के रूप में वर्णित किया - यह कहते हुए कि वे कुलीन वर्गो और व्यवसायों के साथ निर्दोष नागरिकों की हत्या में शामिल रहे हैं और यह सही है कि वे इसका कीमत चुकाते हैं।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

सोमालिया में आत्मघाती हमला, महिला सांसद समेत 15 की मौत

सोमालिया के एक मतदान केंद्र में हुए आत्मघाती बम धमाके में प्रमुख महिला सांसद समेत 15 लोगों की मौत हो गई। पुलिस ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी। हमला बुधवार देर रात सोमालिया की राजधानी मोगादिशु के हिरन क्षेत्र के बेलेडवेयेन कस्बे में हुआ। मृतकों में सरकार की मुखर आलोचक मानी जाने वाली विपक्षी सांसद अमीन मोहम्मद अब्दी भी शमिल हैं, जो नेशनल असेंबली की अपनी सीट पर हो रहे चुनाव के लिये प्रचार कर रही थीं। पुलिस अधिकारी अहमद हसन ने फोन पर एसोसिएटेड प्रेस को बताया कि हमले की जिम्मेदारी सोमालिया के विद्रोही समूह अल-शबाब ने ली है। अहमद हसन ने बताया कि हमले में 15 लोगों की मौत हो गई, जिनमें ज्यादातर आम नागरिक थे. इसके अलावा कई लोग घायल हुए हैं।

IANS
IANS

रूस से इस मामले में बातचीत कर रहा है पाकिस्तान

पाकिस्तान एलएनजी आयात के लिये रूस से बातचीत कर रहा है। पाकिस्तान गैस की अपनी जरूरतों का करीब 24 फीसदी हिस्सा एलएनजी आयात के माध्यम से पूरा करता है। पाकिस्तान के समाचार पत्र एक्सप्रेस ट्रिब्यून के मुताबिक रूस करीब 27 अरब डॉलर की लागत से यमल एलएनजी परियोजना विकसित कर रहा है। इस परियोजना के तहत रूस के यमल प्रायद्वीप में साबेट्टा के पास स्थित दक्षिण टैम्बे गैसफील्ड को भी विकसित किया जायेगा। सूत्रों ने बताया कि पाकिस्तान सरकार एलएनजी खरीद के लिये रूस के साथ सरकार के स्तर पर समझौता करना चाहती है। पाकिस्तान और रूस पहले से ही गैस पाइपलाइन की दो परियोजनाओं पर साथ काम कर रहे हैं।

रिपोर्ट के अनुसार, रूस द्वारा विकसित की जा रही यमल परियोजना दुनिया की सबसे बड़ी एलएनजी फैसिलिटी होगी। अमेरिका के विरोध के बावजूद रूस पाइपलाइन के जरिये यूरोप को गैस की आपूर्ति कर रहा है। सूत्रों ने बताया कि पाकिस्तान एलएनजी लिमिटेड रूस की कंपनी गाजप्रोम और नोवाटेक के साथ गैस आयात के लिये बातचीत कर रही है। पाकिस्तान ने हाल में ही कतर से गैस आयात का समझौता किया है लेकिन इसके बावजूद पाकिस्तान गैसपोर्ट कंसर्टियम लिमिटेड के एलएनजी टर्मिनल में जगह है। पाकिस्तान के तेल बाजार पर पहले सऊदी अरब का दबदबा था लेकिन अब वह कतर से एलएनजी आयात करता है।

IANS
IANS

इतिहास में पहली बार! पुर्तगाली सरकार में महिला बनेगी रक्षा मंत्री

पुर्तगाल के प्रधानमंत्री एंटोनियो कोस्टा ने देश की सरकार के नए गठन को पेश किया, जिसे राष्ट्रपति मार्सेली रेबेलो डी सूसा ने स्वीकार किया है। पुर्तगाली लोकतंत्र के इतिहास में ऐसा पहली बार होगा, जहां नई सरकार में महिला रक्षा मंत्री हेलेना कैरेरास होंगी, जो पद संभालने वाली पहली महिला होंगी। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, 17 मंत्रियों और 38 राज्य सचिवों के साथ, 23वीं पुर्तगाली सरकार में पिछले साल समाप्त हुई सरकार की तुलना में 20 प्रतिशत की कमी होगी। नामित प्रधानमंत्री, एंटोनियो कोस्टा ने कहा कि नई सरकार के पास मजबूत मंत्रियों का एक समूह है और यह पुर्तगाली समाज में विविध अनुभवों वाले लोगों से बना है। नए मंत्रियों का शपथ ग्रहण समारोह 30 मार्च को होने की उम्मीद है।

IANS
IANS

पाकिस्तान को हथियारों का निर्यात बढ़ाएगा चीन

चीन ने पाकिस्तान को अपने हथियारों का निर्यात बढ़ाने और उसके साथ अपने रक्षा सहयोग में एक बड़ी छलांग लगाने का फैसला किया है, जिसमें स्टील्थ फाइटर्स से लेकर पनडुब्बियों तक के हथियारों की बिक्री शुरू की गई है। इस कदम को बीजिंग द्वारा अपने सीमा विवाद प्रतिद्वंद्वी भारत पर अधिक दबाव डालने के प्रयास के रूप में देखा जा रहा है। चीन दक्षिण एशिया में अपने रक्षा विस्तार को बढ़ाने का लक्ष्य लेकर चल रहा है, जिससे इस क्षेत्र में उसका प्रभाव और बढ़ जाएगा। चीन के रक्षा सहयोग में वृद्धि ऐसे समय में हुई है, जब अमेरिका और यूरोप रूस-यूक्रेन संघर्ष से पैदा हो रहे हालात पर ध्यान दे रहे हैं।

चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने ओआईसी (इस्लामिक सहयोग संगठन) के विदेश मंत्रियों के सम्मेलन (सीएफएम) में एक विशेष अतिथि प्रतिनिधि के रूप में इस्लामाबाद के अपने दौरे के दौरान कहा, "बीजिंग कठिनाइयों को दूर करने और अपनी अर्थव्यवस्था को ठीक करने के लिए पाकिस्तान को अपनी क्षमता के भीतर मदद देने के लिए तैयार है।" इस महीने की शुरुआत में चीन ने अपने रक्षा सहयोग के तहत पाकिस्तान को छह जे-10सीई लड़ाकू जेट दिए। जे-10सीई जेट बुधवार को इस्लामाबाद में पाकिस्तान दिवस परेड का भी हिस्सा थे, जिसमें पाकिस्तान ने अपनी सैन्य ताकत का प्रदर्शन किया।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;