चीन की वैक्सीन सिनोवैक के दूषित होने की आशंका, ब्राजील ने 1.21 करोड़ डोज पर लगाया प्रतिबंध

ब्राजील सरकार ने कोरोना के खिलाफ चीन निर्मित सिनोवैक टीकों की लाखों डोज के वितरण पर इसलिए प्रतिबंध लगा दिया है, क्योंकि इन टीकों की आपूर्ति एक ऐसे कारखाने से की गई थी, जो नियामक द्वारा अनुमोदित नहीं है। इस मामले की जांच की जा रही है।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

ब्राजील के स्वास्थ्य नियामक ने शीशियों के दूषित होने के डर से चीन निर्मित कोविड वैक्सीन सिनोवैक की 1.21 करोड़ से अधिक खुराक के उपयोग को अस्थायी रूप से निलंबित कर दिया है। वाशिंगटन पोस्ट की रिपोर्ट के अनुसार, ब्राजीली नियामक अंविसा ने सिनोवैक को तीन महीने की अवधि के लिए निलंबित कर दिया है।

ब्राजील सरकार ने कोरोना के खिलाफ चीन निर्मित सिनोवैक टीकों की लाखों डोज के वितरण पर इसलिए प्रतिबंध लगा दिया है, क्योंकि इन टीकों की आपूर्ति एक ऐसे कारखाने से की गई थी, जो नियामक द्वारा अनुमोदित नहीं है। इस मामले की जांच की जा रही है।

एजेंसी ने कहा कि स्थानीय उपयोग के लिए वैक्सीन भरने के लिए सिनोवैक के साथ भागीदारी करने वाले साओ पाउलो स्थित बायोमेडिकल सेंटर बुटानटन इंस्टीट्यूट ने अनियमितता के बारे में अंविसा को सूचित किया। रिपोर्ट में अंविसा के हवाले से एक बयान में कहा गया कि फिलिंग के लिए जिम्मेदार निर्माण इकाई का निरीक्षण नहीं किया गया था और इसे अंविसा ने मंजूरी नहीं दी थी, इसलिए एक संभावित जोखिम को देखते हुए इस पर रोक लगाई गई है।


रिपोर्ट में कहा गया है कि अंविसा ने कहा कि उसने सिनोवैक की अतिरिक्त 90 लाख खुराक वितरित करने की योजना को रोक दिया है, क्योंकि वे भी एक ऐसे स्थान पर भरे गए थे, जिसका स्वास्थ्य अधिकारियों द्वारा निरीक्षण नहीं किया गया था। नियामक ने कहा कि निलंबन एहतियाती है, दंडात्मक नहीं। इसने कहा कि इसका उद्देश्य अनियमित या संदिग्ध उत्पादों के उपयोग से बचना है।

रिपोर्ट के अनुसार, इस बीच, ब्राजील ने हाल के हफ्तों में वैक्सीन प्रदाताओं के कुछ सौदों को रद्द कर दिया है, जिसमें रूस की स्पुतनिक वी वैक्सीन की 1 करोड़ खुराक और भारत के भारत बायोटेक से 2 करोड़ खुराक शामिल हैं, जो व्यापक जनता के लिए दूसरे शॉट्स की समय पर डिलीवरी के बारे में सार्वजनिक चिंताओं को देखते हुए किया गया है।


बता दें कि 2 करोड़ से अधिक संक्रमितों और 580,000 मौतों के साथ, ब्राजील अमेरिका के बाद कोरोना महामारी से दूसरा सबसे अधिक प्रभावित देश रहा है। आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, ब्राजील ने 6.56 लाख लोगों को पूरी तरह से टीका लगा दिया है। मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि देश के कुछ शहर कोविड के टीके के बूस्टर शॉट भी प्रदान कर रहे हैं, हालांकि अधिकांश लोगों को अभी तक अपनी दूसरी खुराक प्राप्त नहीं हुई है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia