चीन में कोरोना की नई लहर से व्यापार को भारी झटका, केएफसी और पिज्जा हट ने बिक्री में भारी गिरावट का दावा किया

यम चीन ने कहा कि स्थिति तेजी से बिगड़ रही है क्योंकि कोरोना को फैलने से रोकने के लिए सभी जगह लॉकडाउन लगा दिया गया है। लॉकडाउन के कारण 1,100 से ज्यादा स्टोर अस्थायी रूप से बंद हैं या टेकअवे सुविधा दे रहे हैं और बिक्री में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

चीन में कोरोना वायरस के नए मामलों के कारण कारोबार को बड़ा झटका लगा है। केएफसी और पिज्जा हट के मालिक ने कहा कि मार्च के पहले दो हफ्तों में बिक्री में 20 फीसदी की गिरावट आई है, क्योंकि पूरे देश में कोरोना मामलों में इजाफा हुआ है। बीबीसी ने अपनी रिपोर्ट में बताया कि महामारी की शुरूआत के बाद से चीन में अब तक का सबसे बड़ा लॉकडाउन लगा है।

वहीं यम चीन ने कहा कि स्थिति तेजी से बिगड़ रही है क्योंकि कोरोना को फैलने से रोकने के लिए सभी जगह लॉकडाउन लगा दिया गया है। लॉकडाउन के कारण 1,100 से ज्यादा स्टोर अस्थायी रूप से बंद हैं या टेकअवे सुविधा दे रहे हैं और बिक्री में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है।


यम चीन ने कहा कि मार्च में ग्वांगडोंग, शंघाई, शेडोंग और जिलिन के आर्थिक रूप से महत्वपूर्ण क्षेत्रों सहित पूरे चीन में ओमिक्रॉन वेरिएंट के कारण स्थिति तेजी से बिगड़ गई है। उन्होंने आगे कहा, "हमारे संचालन नए प्रकोपों और सख्त सार्वजनिक स्वास्थ्य उपायों से काफी प्रभावित हैं, जिसके कारण सामाजिक गतिविधियों, यात्रा और खपत में और कमी आई है।"

रिपोर्ट के अनुसार, टोयोटा, वोक्सवैगन और आईफोन निर्माता फॉक्सकॉन को लॉकडाउन के कारण प्रभावित क्षेत्रों में परिचालन बंद करने के लिए मजबूर होना पड़ा है। वहीं जिलिन प्रांत में कार निर्माता टोयोटा और वोक्सवैगन जैसी कंपनियों के साथ-साथ प्रौद्योगिकी केंद्र शेन्जेन में कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन के कारण बड़ी संख्या में बहुराष्ट्रीय कंपनियों को अपना परिचालन रोकना पड़ा है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia