दुनिया की 5 बड़ी खबरें: भांग से कोरोना दवा बनकर हुई तैयार? और नवाज शरीफ को घर पर मिला गैर-जमानती गिरफ्तारी वारंट

कनाडा की कंपनी अकसीरा फार्मा ने भांग यानी कैनाबिस से कोरोना वायरस के मरीजों इलाज करने का दावा किया है, कंपनी चाहती है कि दवा का ट्रायल भारत में हो जिसके लिए केंद्र सरकार के साथ बातचीत जारी है और पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को ब्रिटेन में अपने घर पर गिरफ्तारी का वारंट मिला है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

कनाडा की कंपनी ने किया भांग से कोरोना दवा बनाने का दावा

कनाडा की कंपनी अकसीरा फार्मा ने भांग यानी कैनाबिस से कोरोना वायरस के मरीजों इलाज करने का दावा किया है। अकसीरा फार्मा द्वारा तैयार की गई दवा का नाम कैनाबिडियोल बताया जा रहा है जो कोरोना वायरस के लिए बनाई गई टीकों की तरह साइड इफेक्ट्स भी नहीं देगी। इसके अलावा कंपनी का दावा है कि उनकी दवा कोविड-19 से होने वाली बीमारियों से भी बचाने में सक्षम है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक कंपनी चाहती है कि दवा का ट्रायल भारत में हो जिसके लिए केंद्र सरकार के साथ बातचीत जारी है।

नवाज शरीफ को घर पर मिला गिरफ्तारी का गैर-जमानती वारंट

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को ब्रिटेन में अपने घर पर गिरफ्तारी का वारंट मिला है। यहां के फॉरेन ऑफिस के एक सूत्र ने बताया है कि यह वारंट गैर-जमानती है। बता दें, इस्लामाबाद उच्च न्यायालय (आईएचसी) ने अल-अजीजिया भ्रष्टाचार मामले में शरीफ द्वारा अपनी सजा के खिलाफ की गई आपराधिक अपील पर 15 सितंबर को सुनवाई करते हुए गैर जमानती वारंट जारी किया था। कोर्ट ने कहा कि उनकी सजा को कुछ शर्तो के तहत रद्द करके जमानत दी गई थी, लेकिन शर्तो के तहत वह यहां मौजूद नहीं है।

उत्‍तराखंड को अपना हिस्‍सा बताने वाली किताब को नेपाल ने किया बैन

नेपाल की ओली सरकार को आखिरकार भारत के आगे झुकना पड़ गया है। प्रधानमंत्री केपी ओली की सरकार ने देश में नए नक्‍शे वाली किताब के वितरण को फिलहाल प्रतिबंधित कर दिया है। नेपाल के विदेश मंत्रालय और भू प्रबंधन मंत्रालय ने इस किताब के तथ्‍यों पर गंभीर सवाल उठाए थे। हाल ही में शिक्षा मंत्रालय की तरफ से पिछले दिनों इस किताब को जारी किया गया था। आपत्ति के बाद नेपाल की कैबिनेट की तरफ से शिक्षा मंत्रालय को निर्देश दिया गया है कि इस किताब के वितरण को फिलहाल रोक दिया जाए। साथ ही इसकी छपाई को भी रोक दिया गया है। नेपाल ने पिछले दिनों स्‍कूलों के नए पाठ्यक्रम के तहत उत्‍तराखंड के पिथौरागढ़ जिले को अपना हिस्‍सा बता दिया था। पाठ्यक्रम के अलावा नेपाल ने अपनी मुद्रा में भी बदलाव किए हैं और उसने उत्‍तराखंड के कई हिस्‍सों पर दावा जताया है।

जिनपिंग को जोकर' कहने वाले बिजनेसमैन को 18 साल की सजा

चीन में राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग की आलोचना करना कम्‍युनिस्‍ट पार्टी ऑफ चाइना (सीपीसी) के सदस्‍य को रेन झिकियांग भारी पड़ गया है। झिकियांग को अब 18 साल की सजा जेल में काटनी होगी। सीपीसी ने जुलाई में उन पर भ्रष्‍टाचार और दूसरे आरोप लगाए थे और अब भ्रष्‍टाचार के आरोपों के चलते ही उन्‍हें सजा सुनाई गई है। झिकियांग ने जिनपिंग को अपने एक आर्टिकल में 'जोकर' करार दिया था। 69 साल के झिकियांग चीन के बिजनेस टायकून हैं और रियल एस्‍टेट कंपनी के पूर्व चेयरपर्सन रह चुके हैं।

ग्लोबल मनी लॉन्ड्रिंग की लिस्ट में पाकिस्तानी बैंकों के भी नाम

मनी लॉन्ड्रिंग में वैश्विक बैंकों की भूमिका के आधार पर कम से कम छह पाकिस्तानी बैंकों का नाम जांच में सामने आया है, जो कम से कम 25 लाख डॉलर तक का है। 'इंटरनेशनल कंसोर्टियम ऑफ इंवेस्टिगेटिव जर्नलिस्ट्स' (आईसीआईजे) और बजफीड न्यूज ने एक जांच की और पाया कि पाकिस्तानी बैंकों से संबंधित लगभग 25 लाख डॉलर की रकम का कम से कम 29 संदिग्ध लेनदेन हुआ, जिनका इस्तेमाल मनी लॉन्ड्रिंग के लिए किया गया हो सकता है। ये छह बैंक एलाइड बैंक, युनाइटेड बैंक लिमिटेड (यूबीएल), हबीब मेट्रोपॉलिटन बैंक, बैंक अल्फलाह, स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक पाकिस्तान और हबीब बैंक लिमिटेड हैं। जांच के अनुसार, वर्ष 2011 और 2012 के दौरान सभी 29 संदिग्ध लेनदेन किए गए थे।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia