नशीली दवाओं की तस्करी के आरोप में कनाडाई सिख को 15 साल की जेल, सजा भुगतने के डर से भारत भागा

6 सितंबर, 2022 को सुप्रीम कोर्ट के एक न्यायाधीश ने मेहमी को दोनों आरोपों में दोषी पाया, और सजा पर सुनवाई 9 जनवरी, 2023 के लिए निर्धारित की गई थी।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

आईएएनएस

कनाडा में ब्रिटिश कोलंबिया प्रांत के एक सिख ट्रक ड्राइवर (60) के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया गया है। बताया जाता है कि यह मादक पदार्थों की तस्करी के आरोप में 15 साल की जेल की सजा सुनाए जाने के बाद से भारत भाग गया।

सरे के राज कुमार मेहमी को नवंबर में कनाडा-अमेरिका प्रशांत राजमार्ग सीमा पार कर ब्रिटिश कोलंबिया में 80 किलोग्राम कोकीन की तस्करी के लिए सजा सुनाई गई थी। रॉयल कैनेडियन माउंटेड पुलिस (आरसीएमपी) ने बुधवार को कहा कि मेहमी का पता लगाने और उसे अस्थायी रूप से गिरफ्तार करने की कानूनी कार्रवाई के लिए दुनिया भर में कानून प्रवर्तन के अनुरोध के रूप में एक इंटरपोल रेड नोटिस की मांग की जा रही है।


मेहमी को शुरू में 6 नवंबर, 2017 को ब्रिटिश कोलंबिया आरसीएमपी द्वारा गिरफ्तार किया गया था, जब कनाडा बॉर्डर सर्विसेज एजेंसी (सीबीएसए) ने एक सेमी-ट्रेलर ट्रक के अंदर छिपी हुई कोकीन की 80 सीलबंद ईंटों की खोज की थी। इस जब्ती के समय, कोकीन का थोक मूल्य 3.2 मिलियन डॉलर आंका गया था।

6 सितंबर, 2022 को सुप्रीम कोर्ट के एक न्यायाधीश ने मेहमी को दोनों आरोपों में दोषी पाया, और सजा पर सुनवाई 9 जनवरी, 2023 के लिए निर्धारित की गई थी। आरसीएमपी ने कहा कि 11 अक्टूबर, 2022 को मेहमी वैंकूवर से उड़ान भरने के बाद भारत भाग गया और अगले दिन नई दिल्ली पहुंचा।


16 नवंबर, 2023 को ब्रिटिश कोलंबिया के सरे प्रांतीय न्यायालय ने मेहमी को (अनुपस्थिति में) ड्रग्स आयात करने के लिए और ड्रग्स रखने के लिए छह साल की सजा सुनाई। पुलिस ने कहा कि मेहमी का कनाडाई पासपोर्ट जब्त कर लिया गया था और गिरफ्तारी के समय उसका पासपोर्ट कनाडा को सौंप दिया गया था।

पुलिस ने मेहमी को लगभग 6 फीट लंबा और 200 पाउंड वजनी बताते हुए लोगों से उसके पास न जाने और अपनी स्थानीय पुलिस एजेंसी से संपर्क करने का आग्रह किया है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;