सावधान! ठीक होने के बाद 91 मरीज फिर से कोरोना संक्रमित, सकते में डॉक्टर, जानें कहां का है मामला?

कोरोना वायरस को लेकर दक्षिण कोरिया से हैरान करने वाली खबर सामने आई है। अस्पातल से छुट्टी मिलने के बाद भी मरीज दोबोरा कोविड-19 संक्रमण के शिकार हो रहे हैं। शुक्रवार को ऐसे 91 मरीज मिले, जो पूरी तरह ठीक होनेे के बाद दोबारा से कोरोना पॉजिटिव पाए गए।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

कोरोना वायरस का कहर दुनिया भर में जारी है। इस बीच दक्षिण कोरिया से आई एक खबर ने दुनिया भर के चिकित्सकों की चिंता और बढ़ा दी है। खबरों के मुताबिक, शुक्रवार को कोरोना से ठीक हो चुके 91 मरीजों में फिर से वायरस का संक्रमण पाया गया है।

विशेषज्ञों का माने तो ठीक हो चुके मरीजों के फिर से कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के पीछे दोबारा संक्रमण होने की बजाय वायरस के री-ऐक्टिवेट होने का कारण हो सकता है। हालांकि, कोरिया के स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने इस तथ्य पर बहुत भरोसा नहीं जताया है। कोरिया के एक और एक्सपर्ट का कहना है कि हो सकता है कि टेस्टिंग किट में कोई गड़बड़ी आ गई हो। फिलहाल यहां के डॉक्टर अलग-अलग तर्क दे रहे हैं, लेकिन कोई भी किसी ठोस वजह को सामने नहीं रख पाए हैं। उन्होंने कहा कि इन मामलों के पीछे के कारण अभी स्पष्ट नहीं हैं। महामारी विज्ञान विभाग के लोग इसकी जांच कर रहे हैं।


बता दें कि दक्षिण कोरिया में कोरोना वायरस से अब तक 211 लोगों की जान जा चुकी है। शुक्रवार को 27 नए मामले सामने आए। अब तक यहां कोरोना के 10,450 केस सामने आ चुके हैं। खबरों के मुताबिक, दक्षिण कोरिया में एक धार्मिक आयोजन से कोरोना वायरस फैलने की शुरुआत हुई थी। दक्षिण कोरिया सरकार ने संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए तुरंत सभी चर्च बंद करा दिए। इसके अलावा देश में होने वाले सभी विरोध-प्रदर्शन और बौद्ध कार्यक्रम रद्द कर दिए गए। इतना ही नहीं दक्षिण कोरिया ने मास्क निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया।

गौरतलब है कि दुनियाभर में कोरोना वायरस से मरने वालों की तादाद 1 लाख के पार हो गई है। अब तक 1,00,090 मरीज जान गंवा चुके हैं। वहीं 16 लाख से अधिक लोग कोरोना से पीड़ित हैं। एक रिपोर्ट के अनुसार, तकरीबन 70 प्रतिशत मौत यूरोप में हुई हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia