संकट में घिरे श्रीलंका में सरकार समर्थकों और प्रदर्शनकारियों में झड़प, 9 लोग घायल, स्थिति तनावपूर्ण

आजादी के बाद से सबसे खराब आर्थिक संकट का सामना कर रहे श्रीलंकाई लोगों को भोजन, दवा, ईंधन रसोई गैस के साथ-साथ घंटों बिजली कटौती सहित कई आवश्यक वस्तुओं की कमी का सामना करना पड़ रहा है। दिन-ब-दिन श्रीलंका में संकट गहराता जा रहा है।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

आर्थिक और राजनीतिक संकट में घिरे श्रीलंका की राजधानी कोलंबो में सोमवार को राजपक्षे सरकार समर्थकों और प्रदर्शनकारियों के बीच हुई झड़प नौ लोग घायल हो गए। घटना के बाद स्थिति बेहद तनावपूर्ण हो गई है। पुलिस प्रवक्ता ने घोषणा की कि हिंसा के मद्देनजर कोलंबो के कुछ हिस्सों में अनिश्चितकालीन कर्फ्यू घोषित कर दिया गया है।

इससे पहले दिन में राजपक्षे समर्थक प्रधानमंत्री के आधिकारिक आवास कोलंबो, टेंपल ट्रीज पर एकत्र हुए और आर्थिक संकट के कारण बढ़ते दबाव के बीच महिंदा राजपक्षे से अपनी सीट नहीं छोड़ने का आग्रह किया। इसी बीच उन्होंने एक बौद्ध पुजारी सहित शांतिपूर्ण प्रदर्शनकारियों पर हमला कर दिया, जो महिंदा राजपक्षे को पद छोड़ने के लिए आग्रह करते हुए टेंपल ट्रीज के बाहर एक सप्ताह से अधिक समय से प्रदर्शन कर रहे थे।


राजपक्षे समर्थक प्रदर्शनकारियों ने अस्थायी झोपड़ियों में भी आग लगा दी, जहां कुछ सरकार विरोधी प्रदर्शनकारी भूख हड़ताल पर थे। बाद में, राजपक्षे समर्थक प्रदर्शनकारी गॉल फेस ग्रीन में राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे के कार्यालय के सामने विरोध स्थल पर चले गए, जहां एक महीने से अधिक समय से शांतिपूर्ण प्रदर्शन किया जा रहा है। खबरों के मुताबिक, गाले फेस ग्रीन साइट में विपक्ष के नेता साजिथ प्रेमदासा पर अनियंत्रित प्रदर्शनकारियों ने हमला कर दिया।

आजादी के बाद से सबसे खराब आर्थिक संकट का सामना कर रहे श्रीलंकाई लोगों को भोजन, दवा, ईंधन रसोई गैस के साथ-साथ घंटों बिजली कटौती सहित कई आवश्यक वस्तुओं की कमी का सामना करना पड़ रहा है। दिन-ब-दिन श्रीलंका में संकट गहराता जा रहा है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia