दुनिया: न्यू ईयर-क्रिसमस के जश्न पर भारी पड़ा कोरोना! और हूतियों के हमलों से निपटने के लिए सुरक्षा परिषद में प्रस्ताव पारित

संयुक्त राष्ट्र ने बुधवार को एक रिपोर्ट जारी कर बताया है कि कोरोना से पिछले महीने यानी दिसंबर में 10,000 मौतें हुईं हैं और संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने लाल सागर के जहाजों पर हो रहे हमलों की कड़े शब्दों में निंदा की है।

प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर
user

नवजीवन डेस्क

2023 के आखिरी महीने में कोरोना से 10,000 मौतें

कोरोना वायरस के केस फिर से आने लगे हैं। इस बार एक और नए वैरिएंट के साथ ये वायरस लोगों की अपनी चपेट में ले रहा है। संयुक्त राष्ट्र ने बुधवार को एक रिपोर्ट जारी कर बताया है कि कोरोना से पिछले महीने यानी दिसंबर में 10,000 मौतें हुईं हैं। इस रिपोर्ट पर एजेंसी के प्रमुख टेड्रोस एडनॉम घेब्रेयसस ने बढ़ते कोरोना वायरस की वजह छुट्टियों में सोशल गैदरिंग को बताया है।

टेड्रोस ने कहा कि दिसंबर में लगभग 10,000 मौतें हुईं, जबकि नए साल के दौरान 50 देशों में अस्पताल में 42% मरीजों की बढ़ोतरी देखी गई है। ज्यादातर मामले यूरोप और अमेरिका से आए हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन के डायरेक्टर जनरल ने जिनेवा में संवाददाताओं से कहा कि 10,000 मौतें महामारी के चरम से काफी कम हैं, लेकिन रोकी जा सकने वाली मौतों का यह आकड़ा स्वीकार्य नहीं है। उन्होंने कहा कि यह तय है कि और जगहों पर भी मामले बढ़ रहे हैं जहां रिपोर्ट नहीं की जा रही हैं, उन्होंने सरकारों से निगरानी बनाए रखने और इलाज व टीकाकरण की मांग की है।

लाल सागर में हूतियों के हमलों के खिलाफ संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में प्रस्ताव पारित

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने लाल सागर के जहाजों पर हो रहे हमलों की कड़े शब्दों में निंदा की है। यूएन ने बुधवार को लाल सागर में व्यापारी और कमर्शियल जहाजों पर हूती विद्रोहियों की ओर से हो रहे हमलों पर प्रस्ताव पास किया है। यूएन ने हूती विद्रोहियों से ऐसे सभी हमलों को तुरंत रोकने की मांग की है। यूएन के इस प्रस्ताव पर हूतियों का भी जवाब आ गया है। उन्होंने इस प्रस्ताव को राजनीतिक चाल बताते हुए खारिज कर दिया है।

यूएन ने अपने प्रस्ताव में कहा कि अंतरराष्ट्रीय कानून के अनुसार, व्यापारी और कमर्शियल जहाजों द्वारा नौवहन अधिकारों और स्वतंत्रता के प्रयोग का सम्मान किया जाना चाहिए। प्रस्ताव में तेजी, कुशल और प्रभावी प्रतिक्रिया सुनिश्चित करने के लिए क्षेत्रीय तनाव में योगदान देने वाले संघर्ष और समुद्री सुरक्षा में बाधा डालने वाले कारणों को संबोधित करने की आवश्यकता पर जोर दिया गया है। साथ ही लाल सागर में बढ़ते तनाव को रोकने और सावधानी बरतने के लिए कहा है।


अफगानिस्तान में भूकंप के तेज झटके, उत्तर भारत की धरती भी हिली

अफगानिस्तान के हिंदू कुश क्षेत्र में गुरुवार को भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए। इसके अलावा उत्तर भारत और पाकिस्तान के कुछ हिस्सों में भी भूकंप के झटके महसूस किए गए। रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 6.0 मापी गई है।

समाचार एजेंसी शिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, जीएफजेड जर्मन रिसर्च सेंटर फॉर जियोसाइंस के मुताबिक, शुरू में भूकंप का केंद्र 192.1 किमी की गहराई में 36.52 डिग्री उत्तरी अक्षांश और 70.71 डिग्री पूर्वी देशांतर पर निर्धारित किया गया था।

किसी के हताहत होने या क्षति की तत्काल कोई जानकारी सामने नहीं आई है। अमेरिकी भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण (यूएसजीएस) ने कहा कि भूकंप की तीव्रता 6.4 थी, जबकि इसका केंद्र अफगानिस्तान के जुर्म से 44 किमी दक्षिण-दक्षिणपूर्व में था।

डॉन न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्तान मौसम विज्ञान विभाग (पीएमडी) के मुताबिक, इस्लामाबाद, लाहौर और इसके आसपास के इलाकों और खैबर पख्तूनख्वा के कुछ हिस्सों में भूकंप के झटके महसूस किए गए।

वहीं, भारत में दिल्ली-एनसीआर में भूकंप के हल्के झटके महसूस किए गए हैं। अधिक जानकारी का इंतजार है।

सिंगापुर में मरीजों को अनुचित दवाएं देने पर भारतीय मूल का डॉक्टर निलंबित

मरीजों को अनुचित तरीके से लंबे समय तक शामक दवाएं देेने वाले 35 साल के अनुभवी भारतीय मूल के एक डॉक्टर को सिंगापुर में एक अनुशासनात्मक न्यायाधिकरण ने तीन साल के लिए चिकित्सा अभ्यास से निलंबित कर दिया है।

चैनल न्यूज एशिया (सीएनए) ने गुरुवार को बताया कि मरीन परेड क्लिनिक में 61 वर्षीय सामान्य चिकित्सक मनिंदर सिंह शाही ने 2002 से 2016 तक अपने कार्यों के संबंध में पेशेवर कदाचार के 14 आरोपों में दोषी ठहराया।

9 जनवरी को निलंबन के लिए सिंगापुर मेडिकल काउंसिल (एसएमसी) की दलीलों को स्वीकार करते हुए तीन सदस्यीय न्यायाधिकरण ने शाही की निंदा करने का आदेश दिया।

उसे एसएमसी को एक लिखित आश्वासन भी देना होगा कि वह अपना आचरण नहीं दोहराएगा, और कार्यवाही की लागत का भुगतान करेगा।

जिन सात मरीजों को शाही ने अनुचित तरीके से लंबे समय तक शामक दवा दी, उनमें से तीन बुजुर्ग थे।

तीन-सदस्यीय न्यायाधिकरण ने सुना कि शाही, जो "बेहद व्यस्त" प्रैक्टिस करते थे, प्रतिदिन 40 से 70 रोगियों को देखते थे, उन्होंने अनुचित तरीके से बेंजोडायजेपाइन, ज़ोपिक्लोन या ज़ोलपिडेम दवा दी।

इसके अलावा, वह मरीजों को समय पर मनोचिकित्सक या चिकित्सा विशेषज्ञ के पास भेजने या रेफर करने में विफल रहा और मरीजों के मेडिकल रिकॉर्ड में पर्याप्त विवरण नहीं रखा।

बेंजोडायजेपाइन अनिद्रा और चिंता जैसी कई स्थितियों का इलाज करती है, जबकि ज़ोलपिडेम और ज़ोपिक्लोन गैर-बेंजोडायजेपाइन दवाएं हैं जो अनिद्रा का इलाज करती हैं।

सीएनए की रिपोर्ट के अनुसार, शाही ने अनिद्रा से पीड़ित अपने एक मरीज को चार सप्ताह की अनुशंसित अवधि से अधिक बेंजोडायजेपाइन लेने के साथ-साथ कोडीन जैसे ओपिओइड एनाल्जेसिक युक्त दवा भी दी।


वांग यी ने रूसी विदेश मंत्री लावरोव से फोन पर बात की

चीनी विदेश मंत्री वांग यी ने रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव से बुधवार को फोन पर बातचीत की। इस दौरान दोनों देशों के विदेश मंत्रियों ने एक-दूसरे को नए साल की शुभकामनाएं दीं।

वांग यी ने कहा कि बीते एक वर्ष में चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग और रूसी राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन के रणनीतिक नेतृत्व में नए युग के लिए चीन-रूस व्यापक रणनीतिक सहयोग साझेदारी संबंध उच्च स्तरीय संचालन बनाए हुए हैं।

उच्च गुणवत्ता वाले रणनीतिक सहयोग के माध्यम से, दोनों पक्ष न केवल अपने-अपने देशों के मामलों को अच्छी तरह से प्रबंधित करते हैं, बल्कि अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मुख्य भूमिका निभाते हैं और वैश्विक रणनीतिक स्थिरता बनाए रखते हैं।

इस वर्ष चीन और रूस के बीच राजनयिक संबंध स्थापना की 75वीं वर्षगांठ है, जो चीन-रूस सांस्कृतिक वर्ष की शुरूआत भी है। दोनों पक्षों को दोनों राष्ट्रपतियों के बीच बनी सहमति के अनुसार जश्न की गतिविधियां चलानी चाहिए और उच्च स्तरीय आदान-प्रदान को घनिष्ठ बनाना चाहिए।

साथ ही दोनों पक्षों को द्विपक्षीय व्यावहारिक सहयोग के गहन विकास को बढ़ावा देना चाहिए, विभिन्न क्षेत्रों में मानवीय आदान-प्रदान को बढ़ावा देना चाहिए, और द्विपक्षीय संबंधों में जनता के इरादों और सामाजिक नींव को और मजबूत करना चाहिए।

सर्गेई लावरोव ने कहा कि वर्ष 2023 में रूस-चीन संबंधों में समृद्ध उपलब्धियां हासिल हुई हैं। नये साल में रूस चीन के साथ उच्च स्तरीय आदान-प्रदान बनाए रखने और अर्थव्यवस्था, व्यापार, निवेश और अन्य क्षेत्रों में सहयोग को मजबूत करने का इच्छुक है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;