दक्षिण अफ्रीका में भीषण बाढ़ में मरने वालों का आंकड़ा 443 पहुंचा, 63 से ज्यादा लोग लापता, मलबे में बदला पूरा प्रांत

क्वाजुलु-नेटाल प्रांतीय प्रीमियर सिहले जिकलाला ने कहा कि ये बाढ़ अब तक की सबसे भीषण तबाही में से एक है। उन्होंने कहा कि इस बाढ़ में लोगों का जीवन, उनके घर और बुनियादी ढांचे सबकुछ तबाह हो गए।सबकुछ फिर से खड़ा करने में काफी मशक्कत के साथ एक लंबा समय लगेगा।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

दक्षिण अफ्रीका के क्वाजुलु-नताल प्रांत में पिछले सप्ताह भारी बारिश के कारण आई भीषण बाढ़ में मरने वालों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। अब तक 443 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 63 लोग लापता हैं। वहीं बाढ़ की तबाही से पूरा प्रांत मलबे में तब्दील हो गया है। एक स्थानीय अधिकारी ने यह जानकारी दी।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, क्वाजुलु-नेटाल प्रांतीय प्रीमियर सिहले जिकलाला ने रविवार को कहा, "पिछले दिनों में तत्काल बचाव मिशन और नुकसान का सर्वेक्षण करने पर ध्यान केंद्रित किया गया है। हालांकि अभी भी प्रांत को इस मलबे से बाहर निकालने का काम तेजी से जारी है।"


जिकलाला ने कहा कि दक्षिण अफ्रीकी पुलिस और राष्ट्रीय रक्षा बलों ने बचाव अभियान में मदद के लिए पायलटों और चालक दल को तैनात किया है। उन्होंने बताया कि कई क्षेत्रों में पानी की समस्या हुई, जबकि अधिकांश क्षेत्रों में बिजली बाधित हुई है। अब तक 8,329 घर आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त हुए और 3,937 पूरी तरह से नष्ट हो गए। साथ ही 13,556 घर प्रभावित हुए।

जिकलाला ने कहा कि ये बाढ़ अब तक की सबसे भीषण तबाही में से एक है। जिकलाला ने कहा, "इस बाढ़ में लोगों का जीवन, उनके घर और जरूरी बुनियादी ढांचे सबकुछ तबाह हो गया है।" सबकुछ फिर से खड़ा करने में काफी मशक्कत के साथ एक लंबा समय लगेगा।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


/* */