कनाडा में भारतीयों को खिलाफ गहरी साजिश! हिंदी फिल्में दिखाने वाले सिनेमाघरों में 'अज्ञात पदार्थ' का स्प्रे

ग्लोबल न्यूज के मुताबिक, इस थिएटर के अंदर एक भारतीय फिल्म देख रही एक महिला ने कहा कि अंदर कुछ छिड़के जाने के बाद वह अस्वस्थ महसूस करते हुए थिएटर से बाहर चली गई। उसने कहा कि वह बाहर गई और "पांच से छह मिनट" तक खांसती रही।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

आईएएनएस

कनाडा में तीन अलग-अलग स्थानों पर हिंदी फिल्मों की स्क्रीनिंग करने वाले मूवी थिएटरों को उस समय खाली कराना पड़ा, जब वहां एक 'अज्ञात पदार्थ' का छिड़काव किया गया, जिससे सैकड़ों लोगों को खांसी होने लगी। पुलिस ने कहा कि घटनाएं मंगलवार रात ग्रेटर टोरंटो एरिया (जीटीए) के मल्टीप्लेक्स में हुईं, जिसमें टोरंटो, वॉन और ब्रैम्पटन शामिल हैं।

यॉर्क क्षेत्रीय पुलिस ने कहा, "जांचकर्ताओं को पता है कि उसी शाम अन्य सिनेमाघरों में भी इसी तरह की दो घटनाएं हुईं, एक ब्रैम्पटन में और एक टोरंटो में। हमारे जांचकर्ता उन घटनाओं के बारे में वहां की पुलिस से संपर्क कर रहे हैं।"

इनमें से एक घटना वॉन में मंगलवार रात करीब 9.20 बजे घटी। थिएटर से लगभग 200 लोगों को खांसी शुरू होने के बाद बाहर निकाला गया। यॉर्क क्षेत्रीय पुलिस के जांचकर्ताओं को पता चला कि "एक भारतीय हिंदी भाषा की फिल्म" शुरू होने के बाद मास्क और हुड पहने हुए दो पुरुष संदिग्ध थिएटर में दाखिल हुए।


फिर वे इधर-उधर चले गए और हवा में एक अज्ञात, एयरोसोल-आधारित पदार्थ का छिड़काव किया। वो लोग पुलिस के पहुंचने से पहले ही भाग गए। पुलिस ने कहा कि अज्ञात पदार्थ के संपर्क में आने के कारण कई लोगों का इलाज किया गया और किसी गंभीर बीमारी की सूचना नहीं है।

पुलिस ने कहा कि एक संदिग्ध अश्वेत व्यक्ति था, जिसका रंग गोरा था, उसकी लंबाई लगभग पांच फीट, दस इंच और कद मध्यम था। उसने काले रंग का स्वेटर, सफेद लोगो वाली काली जैकेट, सफेद धारी वाली गहरे रंग की पैंट और सामने की तरफ सफेद लोगो वाली काली टोपी पहनी थी।

पुलिस ने कहा कि दूसरा संदिग्ध एक भूरे रंग का व्यक्ति है, जिसकी त्वचा का रंग गोरा है, उसकी लंबाई लगभग पांच फीट आठ इंच है और उसका शरीर मध्यम है। उसने सामने सफेद टेक्स्ट के ऊपर लाल लोगो वाला एक काला स्वेटर, गहरे रंग की पैंट, भूरे जूते और एक काला मुखौटा पहना था।


अभी तक कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है। जांचकर्ता यह निर्धारित करने के लिए वीडियो देख रहे हैं कि वास्तव में क्या हुआ था।

ग्लोबल न्यूज के मुताबिक, इस थिएटर के अंदर एक भारतीय फिल्म देख रही एक महिला ने कहा कि अंदर कुछ छिड़के जाने के बाद वह अस्वस्थ महसूस करते हुए थिएटर से बाहर चली गई। उसने कहा कि वह बाहर गई और "पांच से छह मिनट" तक खांसती रही।

जांचकर्ताओं का मानना ​​है कि वहां कई गवाह मौजूद थे जो जांच में सहायता कर सकते हैं क्योंकि जीटीए के पास कई वाणिज्यिक और मनोरंजन व्यवसाय हैं।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;