कतर का ऐलान- गाजा में 24 घंटे के भीतर होगी युद्ध विराम की प्रभावी तारीख की घोषणा

नवीनतम घटनाक्रम तब सामने आया है जब इजराइली कैबिनेट ने बुधवार तड़के चली एक लंबी बैठक के बाद 7 अक्टूबर के हमले के बाद से गाजा में रखे गए 50 बंधकों की रिहाई सुनिश्चित करने के लिए हमास के साथ युद्ध विराम के समझौते को मंजूरी दे दी।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

गाजा में चल रहे युद्ध के बीच इजराइल और हमास के बीच समझौता कराने में मदद करने वाले कतर ने बुधवार को घोषणा की कि चार दिनों के युद्धविराम की प्रभावी तारीख 24 घंटों के भीतर घोषित की जाएगी। बीबीसी ने कतर सरकार के एक बयान के हवाले से कहा, "विराम के शुरुआती समय की घोषणा 24 घंटों के भीतर की जाएगी।"

बयान में कहा गया है कि यह ठहराव चार दिनों तक रहेगा। नवीनतम घटनाक्रम तब सामने आया है जब इजराइली कैबिनेट ने बुधवार तड़के चली एक लंबी बैठक के बाद 7 अक्टूबर के हमले के बाद से गाजा में रखे गए 50 बंधकों की रिहाई सुनिश्चित करने के लिए हमास के साथ युद्ध विराम के समझौते को मंजूरी दे दी।


इजराइली प्रधान मंत्री कार्यालय ने एक बयान में कहा "इजराइल सरकार सभी बंधकों को घर लौटने के लिए प्रतिबद्ध है। सरकार ने इस लक्ष्य को प्राप्त करने के पहले चरण की रूपरेखा को मंजूरी दे दी हैै। इसके अनुसार कम से कम 50 बंधकों को चार दिनों में रिहा कर दिया जाएगा। इस दौरान लड़ाई नहीं होगी।”

"हर अतिरिक्त 10 बंधकों की रिहाई के परिणामस्वरूप एक अतिरिक्त दिन लड़ाई रुकी रहेगी।

यह समझौता मानवीय, चिकित्सा और ईंधन सहायता की सैकड़ों गाडि़यों को मिस्र के राफा क्रॉसिंग के माध्यम से गाजा पट्टी के सभी हिस्सों में प्रवेश करने की अनुमति देगा।

इजराइल सरकार के प्रवक्ता ने यह भी चेतावनी दी कि उन्हें डर है कि हमास लड़ाई में विराम का उपयोग फिर से आपूर्ति करने और फिर से संगठित होने के लिए करेगा। इस कदम की सराहना करते हुए, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने एक बयान में कहा कि "मैं 7 अक्टूबर को इज़राइल के खिलाफर हमले के दौरान आतंकवादी समूह हमास द्वारा बंधक बनाए गए बंधकों की रिहाई सुनिश्चित करने के समझौते का स्वागत करता हूं।"

इज़राइली अधिकारियों ने कहा है कि गाजा में कम से कम 236 बंधक हैं।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;