यूक्रेन सीमा से सटे रूसी शहर के तेल डिपो में भीषण आग, बार-बार क्यों लग रहे रूसी तेल डिपो में आग?

यूक्रेन सीमा के पास रूस के एक बड़े शहर ब्रांस्क में सोमवार को एक तेल डिपो में आग लग गई। अधिकारियों ने आरआईए नोवोस्ती को बताया कि आग ट्रांसनेफ्ट-द्रुझाबा जेएससी द्वारा संचालित एक परिसर और एक अन्य स्थान पर लगी।

प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर
user

नवजीवन डेस्क

यूक्रेन सीमा के पास रूस के एक बड़े शहर ब्रांस्क में सोमवार को एक तेल डिपो में आग लग गई। अधिकारियों ने आरआईए नोवोस्ती को बताया कि आग ट्रांसनेफ्ट-द्रुझाबा जेएससी द्वारा संचालित एक परिसर और एक अन्य स्थान पर लगी।

आरटी ने आपातकालीन स्थिति मंत्रालय का हवाला देते हुए बताया कि इसमें कोई हताहत नहीं हुआ है और आवासीय भवनों को कोई खतरा नहीं है। इसकी प्रेस सर्विस ने कहा, "आबादी की निकासी की योजना नहीं है। प्रारंभिक जानकारी के अनुसार, कोई पीड़ित नहीं है।"

टास न्यूज एजेंसी के अनुसार, स्थानीय निवासियों ने बताया है कि विस्फोटों की आवाज सुनी गई और सोशल मीडिया वीडियो में सायरन बजते भी सुनाई दिए। मॉस्को के दैनिक कोमर्सेंट ने बताया कि शहर के फोकिंस्की जिले में एक और आग लगने की घटना दर्ज की गई है, जिसके कारणों का अभी तक पता नहीं चल पाया है।

आरटी ने बताया कि ब्रांस्क में 400,000 से अधिक लोग रहते हैं और यह एक महत्वपूर्ण क्षेत्रीय केंद्र है। इंटरफैक्स के एक सूत्र ने खुलासा किया कि 10,000 टन के डीजल ईंधन वाले टैंक में आग लगी थी।

सरकार के स्वामित्व वाले रोसिया-24 टीवी ने बताया कि आग एक सैन्य इकाई में डीजल ईंधन डिपो में भी लगी थी। सोमवार की घटना से पहले, ब्रांस्क क्षेत्र के अधिकारियों ने संभावित आतंकवादी खतरे की चेतावनी दी थी।

इसी तरह की आशंका वोरोनिश के कुछ हिस्सों और पूरे छोटे बेलगोरोड क्षेत्र में घोषित की गई थी, जहां यूक्रेन पर इस महीने की शुरुआत में एक तेल डिपो पर गोलाबारी करने का आरोप लगाया गया था।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia