दुनिया की 5 बड़ी खबरें: US में एक और खतरनाक वायरस की दस्तक और यूरोप में 'विनाशकारी बाढ़' से सैकड़ों की मौत

अमेरिका में एक और खतरनाक वायरस ने दस्तक दे की है। दो दशकों में पहली बार अमेरिका के टेक्सास में खतरनाक मंकीपॉक्स बीमारी का दुर्लभ केस सामने आया है और पश्चिमी यूरोपीय देशों में भारी बारिश के कारण विनाशकारी बाढ़ आई है, जिसमें 120 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई, जबकि कई अन्य लापता हैं।

फोटो: Getty Images
फोटो: Getty Images
user

नवजीवन डेस्क

अमेरिका में एक और खतरनाक वायरस की दस्तक, दो दशक बाद मिला पहला केस

कोरोना वायरस के कहर से बुरी तरह प्रभावित रहे अमेरिका में एक और खतरनाक वायरस ने दस्तक दे की है। दो दशकों में पहली बार अमेरिका के टेक्सास में खतरनाक मंकीपॉक्स बीमारी का दुर्लभ केस सामने आया है। अमेरिका के रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र (सीडीसी) ने इस बारे में पुष्टि की है। लाइव साइंस की रिपोर्ट के मुताबिक मरीज अमेरिकी नागरिक और कुछ दिन पहले ही नाइजीरिया से लौटा था। मरीज को डलास के एक अस्पताल में आइसोलेशन में रखा गया है। इसके साथ ही सीडीसी ने एयरलाइन और राज्य की स्थानीय स्वास्थ्य एजेंसी के साथ मिलकर मरीज के संपर्क में आए लोगों को ट्रेस करना शुरू कर दिया है। जानकारी के मुताबिक शख्स नाइजीरिया के लागोस से 8 जुलाई को अटलांटा पहुंचा था और 9 जुलाई को अटलांटा से डालास आया था। सरकारी अधिकारियों के मुताबिक मंकीपॉक्स का अकेला मामला खतरे की वजह नहीं है और इसके चलते आम जनता को कोई खतरा नहीं है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

अफगान शहर पर हुए हमले में दर्जनों तालिबानी आतंकी ढेर

फगानिस्तान के सुरक्षा बलों ने जावजान प्रांत की राजधानी शिबरघन शहर पर तालिबान के हमले को नाकाम कर दिया, जिसमें दर्जनों आतंकवादी मारे गए और घायल हो गए। प्रांतीय पुलिस अधिकारी अबोबकर जिलानी ने समाचार एजेंसी सिन्हुआ को बताया कि शुक्रवार की सूबह भारी बंदूकों और हथियारों से लैस दर्जनों तालिबानी आतंकवादी शहर के दक्षिण और पूर्व में दो दिशाओं से घुस आए। उन्होंने कहा, अफगान सेना, स्थानीय लोगों के समर्थन से पुलिस ने हमलावरों को खदेड़ दिया है। और उन्हें शहर के मध्य भाग में जाने से रोक दिया है। अफगान राष्ट्रीय सेना के एक अधिकारी ने सिन्हुआ को बताया कि अफगान वायु सेना ने राष्ट्रीय राजधानी काबुल से 390 किलोमीटर उत्तर में शहर के बाहरी इलाके में आतंकवादियों के ठिकानों पर कई हवाई हमले भी किए। उन्होंने कहा, पिछले 24 घंटों के भीतर, 60 आतंकवादी मारे गए हैं और कई अन्य घायल हुए हैं। सेना के जवान जल्द ही दो प्रांतीय राजमार्गों को फिर से खोलेंगे जो शिबरघन शहर को पड़ोसी बल्ख और सारी पुल प्रांतों से जोड़ते हैं।

फोटो: IANS
फोटो: IANS

यूरोप में विनाशकारी बाढ़ से 120 से ज्यादा लोगों की मौत

पिछले कुछ दिनों में कई पश्चिमी यूरोपीय देशों में भारी बारिश के कारण विनाशकारी बाढ़ आई है, जिसमें 120 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई, जबकि कई अन्य लापता हैं। विश्व मौसम विज्ञान संगठन (डब्ल्यूएमओ) के अनुसार, इस क्षेत्र के कुछ देशों में दो दिनों में दो महीने तक बारिश हुई, जिससे जर्मनी, बेल्जियम, नीदरलैंड और लक्जमबर्ग बुरी तरह प्रभावित हुए। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, इस सप्ताह भारी और लगातार बारिश के बाद पश्चिमी और दक्षिणी जर्मनी के कुछ हिस्सों में शहर और समुदाय विनाशकारी बाढ़ की चपेट में आ गए। स्थानीय अधिकारियों के अनुसार, देश में मरने वालों की संख्या बढ़कर 103 हो गई, जबकि कई और लोग अभी भी लापता हैं। उत्तरी राइन-वेस्टफेलिया और राइनलैंड-पैलेटिनेट के संघीय राज्यों को विशेष रूप से मारा गया, जिसमें क्रमश: 43 लोग और 60 लोग मारे गए। बड़ी संख्या में लोग अभी भी लापता हैं। अकेले अहरवीलर जिले में वर्तमान में लगभग 1,300 लापता लोगों का अनुमान है, जबकि लगभग 3,500 का इलाज देखभाल सुविधाओं में किया जा रहा है। जर्मनी के रक्षा मंत्रालय ने शुक्रवार को सैन्य आपदा अलर्ट जारी किया है, बचाव कार्य के लिए 850 से अधिक सैनिकों को तैनात किया गया है और संख्या बढ़ रही है। बेल्जियम में, हाल के दिनों में खराब मौसम के शिकार लोगों के लिए 20 जुलाई को राष्ट्रीय शोक दिवस निर्धारित किया गया है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS

श्रीलंका ने आपातकालीन उपयोग के लिए सिनोवैक को मंजूरी दी

श्रीलंका के राष्ट्रीय औषधि नियामक प्राधिकरण (एनएमआरए) ने चीनी सिनोवैक कोविड-19 वैक्सीन को द्वीपीय राष्ट्र में आपातकालीन उपयोग के लिए मंजूरी दे दी है। राज्य के उत्पादन, आपूर्ति और फार्मास्यूटिकल्स के विनियमन मंत्री चन्ना जयसुमना ने शुक्रवार को कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) द्वारा अनुमोदित सभी कोविड -19 टीकों का अब श्रीलंका में उपयोग किया जा सकता है। आज तक, श्रीलंका ने देश भर में कोरोनोवायरस टीकों की 4 मिलियन से अधिक पहली खुराक दी है, जिनमें से अधिकांश को सिनोफार्म टीके प्राप्त हुए हैं। स्वास्थ्य संवर्धन ब्यूरो (एचपीबी) के निदेशक रंजीत बटुवनथुडावा ने गुरुवार को कहा कि श्रीलंका में 30 साल से अधिक उम्र की 36 फीसदी आबादी को कोविड -19 वैक्सीन की कम से कम एक खुराक दी गई है। बटुवनथुडावा ने कहा कि राजधानी कोलंबो में, जो वायरस से सबसे बुरी तरह प्रभावित है, लक्षित आबादी के 70 प्रतिशत लोगों ने टीके की पहली खुराक प्राप्त कर ली है, जबकि 25 प्रतिशत ने दोनों खुराक प्राप्त कर ली हैं। पिछले हफ्ते, राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे ने सितंबर से पहले श्रीलंका की अधिकांश आबादी को टीका लगाने के लिए एक व्यापक तंत्र को सामने रखा था। राजपक्षे ने कहा कि जुलाई में प्राप्त होने वाले कोरोनावायरस टीकों की मात्रा जनता को उपलब्ध कराई जाएगी, और कोरोनवायरस के प्रसार के लिए उच्च जोखिम वाले क्षेत्रों के रूप में पहचाने जाने वाले जिलों को वैक्सीन वितरण में प्राथमिकता दी जाएगी। श्रीलंका वर्तमान में महामारी की तीसरी लहर के तहत है, अधिकारियों ने डेल्टा संस्करण के और प्रसार की चेतावनी दी है। देश में अब तक 282,060 पुष्ट कोरोनोवायरस मामले दर्ज किए गए हैं, जबकि 3,702 मौतें हुई हैं।

फोटो: IANS
फोटो: IANS

दक्षिण अफ्रीका : हिंसक प्रदर्शन में 212 लोगों की मौत

7 जुलाई को पूर्व राष्ट्रपति जैकब जुमा की गिरफ्तारी के बाद भड़के दक्षिण अफ्रीका में हिंसक विरोध प्रदर्शनों में कम से कम 212 लोग मारे गए हैं। एक अधिकारी ने इसका ऐलान किया है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के मुताबिक, शुक्रवार पत्रकारों को संबोधित करते हुए प्रेसीडेंसी में कार्यवाहक मंत्री खुम्बुद्जो नत्शावेनी ने कहा कि क्वाजूलू-नताल (केजेडएन) प्रांत में 89 और मौतें होने की सूचना मिली है, इन्हें शामिल करते हुए कुल मौतों की संख्या 180 हो गई है। मंत्री ने कहा कि हिंसा प्रभावित एक अन्य प्रांत गौतेंग में 32 लोगों की मौत हुई है। अधिकारी के मुताबिक, पुलिस ने गौतेंग में 862 और केजेडएन में 1,692 और लोगों को गिरफ्तार किया है। नत्शावेनी ने कहा कि गौतेंग और केजेडएन में स्थिति गुरुवार से धीरे-धीरे, लेकिन ²ढ़ता से सामान्य हो रही है, लेकिन कुछ क्षेत्रों में यह अभी भी तनावपूर्ण है। पुलिस को रात भर में केजेडएन में 1,488 मामलों की सूचना मिली है, जबकि गौतेंग में कोई नई घटना सामने नहीं आई। पुलिस ने केजेडएन में दो संदिग्धों को 4,000 राउंड गोला-बारूद और बिना लाइसेंस के आग्नेयास्त्रों के साथ गिरफ्तार किया। यहां तैनात दक्षिण अफ्रीकी राष्ट्रीय रक्षा बल (एसएएनडीएफ) की संख्या बढ़कर 25,000 कर दी गई है। बल की तैनाती 12 अगस्त रहेगी।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia