दुनिया की 5 बड़ी खबरें: G7 कॉन्फ्रेंस में भाग लेने गए 2 भारतीय कोरोना पॉजिटिव और भारत में कहर बरपाने वाला कोरोना का नया रूप

लंदन में जी-7 विदेशमंत्रियों की बैठक में हिस्सा लेने गये भारतीय प्रतिनिधियों के दल को क्वारंटाइन होना पड़ा है और भारत में कोरोना की दूसरी लहर के लिए जिम्मेदार कोरोना वैरिएंट B.1.1.7 की पहली तस्वीर सामने आई है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

भारत में दूसरी लहरों के लिए जिम्मेदार कोरोना का नया रूप, वैज्ञानिकों ने जारी की तस्वीर

भारत में कोरोना की दूसरी लहर के लिए जिम्मेदार कोरोना वैरिएंट B.1.1.7 की पहली तस्वीर सामने आई है। इसमें यह साफ-साफ दिख रहा है कि कैसे कोरोना शरीर की कोशिकाओं से चिपकता है। इस स्ट्रेन की वजह से ही कई देशों में कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी लहर आई। कनाडा के रिसरचर्स ने इस वैरिएंट की पहली मॉलिक्यूलर इमेज जारी की है। पिछले साल दिसंबर के मध्य में वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन ने B.1.1.7 वैरिएंट के बारे में जानकारी दी थी. इसमें असामान्य रूप से बड़ी संख्या में म्यूटेशन हैं। बी.सी. विश्वविद्यालय ने कहा कि रिसरचर्स SARS-CoV-2 स्पाइक प्रोटीन के एक हिस्से पर पाए गए म्यूटेशन की स्ट्रक्चरल इमेज को प्रकाशित करने वाली टीम है। स्पाइक प्रोटीन वायरस का वह हिस्सा है जो संक्रमण के लिए जिम्मेदार है. जबकि म्यूटेशन वह बदलाव है जिसके चलते वायरस तेजी से फैला।

G7 कॉन्फ्रेंस में भाग लेने गये 2 भारतीय प्रतिनिधि कोरोना पॉजिटिव

लंदन में जी-7 विदेशमंत्रियों की बैठक में हिस्सा लेने गये भारतीय प्रतिनिधियों के दल को क्वारंटाइन होना पड़ा है। भारतीय प्रतिनिधियों की टीम के दो सदस्य कोरोना वायरस पॉजिटिव पाए गये हैं, जिसके बाद भारतीय प्रतिनिधियों की पूरी टीम ने खुद को आइसोलेट कर लिया है। 7 सदस्यीय भारतीय टीम जी-7 कॉन्फ्रेंस में हिस्सा लेने लंदन गई है, जिसमें 2 सदस्य कोरोना पॉजिटिव पाए गये हैं। इस टीम में भारत के विदेश मंत्री एस।जयशंकर भी शामिल हैं। ब्रिटेन सरकार ने कहा है कि कोविड-19 टेस्ट के दौरान दो भारतीय अधिकारी कोविड-19 संक्रमित पाए गये हैं, जिसके बाद पूरी भारतीय टीम ने खुद को सेल्फ आइसोलेट कर लिया है। ब्रिटेन की सरकार ने कहा है कि जी-7 कॉन्फ्रेंस को लेकर काफी कड़ी जांच हो रही है और इस सम्मेलन में हिस्सा लेने वाले प्रतिनिधियों का हर दिन कोविड-19 टेस्ट किया जाता है। हालांकि, भारतीय विदेश मंत्री एस।जयशंकर का कोविड-19 टेस्ट निगेटिव आया है।

ब्राजील में प्राइमरी स्कूल पर हमला, 5 लोगों की मौत

एक 18 वर्षीय व्यक्ति ने ब्राजील के एक प्राइमरी स्कूली में नुकीली चीज से हमला किया। इस जानलेवा हमले में तीन बच्चों और दो देखभालकतार्ओं की मौत हो गई। सैन्य पुलिस प्रवक्ता मेजर राफेल एंटोनियो डा सिल्वा ने सांता कैटरीना के राज्य से डीपीए को बताया कि सैदादस शहर में एक्वारेला प्राइमरी स्कूली पर हुए हमले में एक अन्य बच्चा घायल हो गया है। शुरू में यह सोचा गया था कि हमले में दो बच्चों की मृत्यु हुई है लेकिन सउददेस के मेयर मैकियल श्नाइडर ने ब्राजील के टेलीविजन पर तीसरी मौत की पुष्टि की। श्नाइडर ने कहा कि यह हमारे इतिहास का सबसे दुखद दिन है। हम वास्तव में नहीं जानते कि कैसे कार्रवाई करें। कार्यालय में यह मेरा पहला कार्यकाल है, मैं 35 साल का हूँ, मेरा भी एक छोटा बच्चा है। समाचार साइट की टिप्पणियों में स्थानीय शिक्षा सचिव गिसेला हरमन ने इसे 'आतंक का ²श्य' कहा। एक गवाह ने कहा कि देखभाल करने वालों ने बच्चों को चेंजिंग रूम में छिपा दिया और दरवाजा बंद कर दिया। एजेंसी के अनुसार मारे गए बच्चे दो साल से कम उम्र के थे। राज्य के राज्यपाल डेनिएला रेइन ने तीन दिन के शोक की घोषणा की। पुलिस ने कहा कि हमले का मकसद अभी भी जांच के दायरे में है और यह ज्ञात नहीं है कि हमलावर मानसिक रूप से बीमार था या नहीं।

अफगानिस्तान के काबुल में मेडिकल स्टाफ को ले जा रहे बस पर घातक हमला

अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में बुधवार सुबह चिकित्साकर्मियों को ले जा रही एक मिनी बस को निशाना बना कर किए बम हमले में एक व्यक्ति की मौत हो गई।काबुल पुलिस के एक अधिकारी ने इस बारे में बताया।काबुल पुलिस प्रमुख के प्रवक्ता फर्दवस फरामर्ज ने बताया कि घटना में तीन चिकित्साकर्मी घायल हो गए और पुलिस ने उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया।उन्होंने बताया कि यह बस डॉक्टरों, नर्सों और अन्य चिकित्साकर्मियों को काबुल से पंजशेर प्रांत ले जा रही थी।काबुल प्रांत के कलाकन में यह हमला हुआ। फरामर्ज ने बताया कि फिलहाल किसी भी आंतंकी संगठन ने हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है और मामले में जांच की जा रही है। यह हमला ऐसे वक्त हुआ है जब अफगानिस्तान से 2500 से 3500 अमेरिकी सैनिकों की वापसी की प्रक्रिया चल रही है।

भारत से डरबन पहुंचे कार्गो जहाज के सभी 14 क्रू मेंबर कोरोना पॉजिटिव

दक्षिण अफ्रीका में भारत से आए मालवाहक पोत के चालक दल के 14 सदस्य कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं। यह मालवाहक पोत भारत से दक्षिण अफ्रीका के डरबन आया। दक्षिण अफ्रीका की ‘ट्रांसनेट नेशनल पोर्ट अथॉरिटी’ ने इस बात की जानकारी दी। ट्रांसनेट के एक प्रवक्ता ने बताया कि मालवाहक जहाज पर तैनात एक चीफ इंजीनियर की मौत कोविड-19 से नहीं, बल्कि दिल का दौरा पड़ने से हुई है। रविवार को यह जहाज डरबन पहुंचा, जिसके बाद चालक दल के सभी 14 सदस्यों की जांच की गई जिसमें सभी संक्रमित पाए गए। चालक दल के सभी सदस्यों को पृथक-वास में रखा गया है और उनके संपर्क में आए लोगों का पता लगाया जा रहा है।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia