यौन उत्पीड़न के खिलाफ दुनिया के गूगल कर्मचारियों का विरोध, कंपनी के ऑफिस से बनाई वॉकआउट की योजना

यौन उत्पीड़न के खिलाफ दुनिया भर के गूगल कर्मचारियों के उठे विरोध के स्वर

गूगल के लगभग 1,500 कर्मचारियों ने गुरुवार को दुनियाभर में कंपनी के कायार्लयों से वॉकआउट की योजना बनाई है। कंपनी के कर्मचारी यौन उत्पीड़न के आरोपों का सामना कर रहे ‘फादर ऑफ एंड्रॉयड’ कहे जाने वाले एंडी रुबिन को गूगल द्वारा बचाए जाने का विरोध कर रहे हैं।

गूगल के लगभग 1,500 कर्मचारियों ने गुरुवार को दुनियाभर में कंपनी के कार्यालयों से वॉकआउट की योजना बनाई है। कंपनी के एक वरिष्ठ अधिकारी पर यौन उत्पीड़न के आरोप लगने के बाद उसका इस्तीफा लेकर 9 करोड़ डॉलर का पैकेज देने से गुस्साए कर्मचारियों ने वॉकआउट का फैसला किया है। इससे पहले गूगल ने पिछले सप्ताह बताया था कि कंपनी ने 2016 के बाद से कार्यस्थल पर यौन उत्पीड़न के आरोपों में 48 लोगों को बर्खास्त किया है।

न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, 1,500 से अधिक लोगों ने दुनियाभर की 2 दर्जन कंपनियों के कार्यालय से वॉकआउट की योजना बनाई। इनमें से अधिकतर महिलाएं हैं। गूगल के यूट्यूब की प्रॉडक्ट मार्किटिंग मैनेजर क्लेयर स्टैप्लेटन ने कहा, “हम यह महसूस होना नहीं चाहते कि हम असमान है और हमारा सम्मान नहीं किया जाता।”

गूगल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुंदर पिचाई ने पिछले सप्ताह अपने कर्मचारियों को लिखे पत्र में कहा था कि कंपनी कार्यस्थल पर यौन उत्पीड़न के मामलों पर सख्ती से काम कर रही है। यह पत्र न्यूयॉर्क टाइम्स में उस रिपोर्ट के जारी होने के बाद लिखा गया, जिसमें कहा गया था कि एंड्रॉयड के संस्थापक एंडी रुबिन पर उत्पीड़न के आरोप लगने के बाद कंपनी से उनको चलता कर देने पर भी उन्हें 9 करोड़ डॉलर का पैकेज दिया गया।

इसे भी पढ़े: #MeToo: यौन शोषण के आरोप में गूगल ने 13 वरिष्ठ अधिकारियों समेत 48 लोगों को नौकरी से निकाला

हाल ही में सुंदर पिचाई ने एक ई-मेल जारी कर कहा था कि पिछले 2 सालों में 13 वरिष्ठ प्रबंधकों और उससे ऊपर के पद के लोगों समेत 48 कर्मचारियों को नौकरी से निकाला गया है और उनमें से किसी को भी कोई एग्जिट पैकेज नहीं दिया गया।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

सबसे लोकप्रिय

अखबार सब्सक्राइब करें