दुनिया की 5 बड़ी खबरें: पाक में पहली बार हिंदू लड़की बनी असिस्टेंट कमिश्नर और यरूशलम हिंसा में 200 से अधिक घायल

पाकिस्तान की रहने वाली डॉ. सना रामचंद्र ने पाकिस्तान एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विस के लिए चुनी गई हैं और यरुशलम में फिलिस्तीनियों और इजरायली सुरक्षा बलों के बीच भारी संघर्ष में 200 से अधिक लोग घायल हो गए हैं।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

पाकिस्तान में पहली बार हिंदू लड़की बनी असिस्टेंट कमिश्नर

पाकिस्तान में ऐसा पहली बार हुआ है कि अल्पसंख्यक समुदाय से आने वाली कोई हिंदू लड़की ने प्रतिष्ठित सेन्ट्रल सुपिरियर सर्विस यानि सीएसएस परीक्षा पास की हो और अपने नाम का लोहा मनवाया हो। पाकिस्तान की रहने वाली डॉ. सना रामचंद्र ने पाकिस्तान एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विस के लिए चुनी गई हैं। डॉ. सना रामचंद्र पाकिस्तान की पहली हिंदू महिला हैं, जिन्होंने प्रितिष्ठित परीक्षा सेन्ट्रल सुपिरियर सर्विस यानि सीएसएस पास की हो। डॉ. सना रामचंद्र सीएसएस पास कर पाकिस्तान एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विस के लिए चुनी गई हैं। डॉ. सना रामचंद्र एमबीबीएस कर चुकी हैं और अभी सिंध प्रांत के शिकारपुर जिले में प्रैक्टिस भी करती हैं। इसके साथ ही डॉ. सना रामचंद्र मास्टर्स इन सर्जरी भी कर रही हैं। पाकिस्तान के सिंध प्रांत में ही सबसे ज्यादा हिन्दू रहते हैं। रिपोर्ट के मुताबिक डॉ. सना रामचंद्र उन 221 सफल अभ्यर्थियों में शामिल होने में कामयाब हुई हैं, जिन्हें पाकिस्तान पुलिस विभाग में ऊंचा ओहदा मिलेगा। इस परीक्षा में लिखित परीक्षा में कुल 18 हजार 553 उम्मीदवार शामिल हुए थे।

बाइडन ने कहा- जून में पुतिन से मिलने का भरोसा

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने कहा कि उन्हें विश्वास है कि जून में मास्को-कीव सीमा पर चल रहे तनाव के प्रभाव को कम करने के लिए उनके रूसी समकक्ष व्लादिमीर पुतिन के साथ बैठक हो सकती है। बाइडन ने शुक्रवार को व्हाइट हाउस में पत्रकारों द्वारा पूछे गए सवाल कि जून में पुतिन के साथ बैठक के बारे में पूछा तो इस पर बाइडन ने कहा, "मुझे विश्वास है कि हम इसे करने में सक्षम होंगे। हमारे पास कोई विशिष्ट समय या स्थान नहीं है। इस पर काम किया जा रहा है।" समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, उन्होंने यूक्रेन के साथ सीमा पर रूस के सैन्य निर्माण के बावजूद कहा कि पुतिन के साथ मिलने का इरादा नहीं बदलेगा। "यह एक बैठक पर एक होने की मेरी इच्छा को प्रभावित नहीं करता है .. वह (पुतिन) पहले से अधिक सैनिकों (सीमा पर) के साथ थे। सैनिकों को वापस ले लिया है। वहां अभी सैनिकों को एकत्र किया गया है, लेकिन एक महीने से भी कम समय है। व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव जेन साकी ने दिन में एक ब्रीफिंग के बाद कहा कि शिखर सम्मेलन का स्थान, समय और एजेंडे पर दो पक्षों के बीच चर्चा अभी भी चल रही है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS

हिंसक झड़प में यरूशलम में 200 से अधिक घायल

यरुशलम में फिलिस्तीनियों और इजरायली सुरक्षा बलों के बीच भारी संघर्ष में 200 से अधिक लोग घायल हो गए हैं, अधिकारियों ने शनिवार को इस बात की जानकारी दी। फिलिस्तीनी रेड क्रीसेंट ने घायलों की संख्या 205 बताई, जिनमें से 88 को अस्पतालों में ले जाया गया। उनमें से कई रबर की गोलियों की चपेट में आ गए थे। इजरायली पुलिस के अनुसार, 17 अधिकारी घायल हो गए, जिनमें से लगभग आधे को अस्पताल में उपचार की जरूरत थी। ओल्ड सिटी में फिलिस्तीनियों और इजरायली सुरक्षा बलों के बीच पवित्र स्थान पर संघर्ष हुआ जो यहूदियों के लिए टेम्पल माउंट के रूप में जाना जाता है। शेख जर्राह के पड़ोस में भी झड़पें हुईं।

दुनिया की 5 बड़ी खबरें: पाक में पहली बार हिंदू लड़की बनी असिस्टेंट कमिश्नर और यरूशलम हिंसा में 200 से अधिक घायल

पाक को एस्ट्राजेनेका वैक्स की पहली खेप मिली

पाकिस्तान ने शनिवार को महामारी की तीसरी लहर के बीच अधिक आपूर्ति को सुरक्षित करने के लिए एस्ट्राजेनेका कोरोनावायरस वैक्सीन की पहली खेप प्राप्त की। स्वास्थ्य मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी राणा सफदर ने बताया कि ऑक्सफोर्ड और एस्ट्राजेनेका वैक्सीन की 12,00,000 लाख से अधिक खुराक की पहली खेप इस्लामाबाद पहुंच गई है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के कोवैक्स कार्यक्रम के माध्यम से पाकिस्तान ने एस्ट्राजेनेका वैक्सीन की 1,70,00,000 खुराक प्राप्त की। पहली डिलीवरी मार्च में होने की उम्मीद थी, लेकिन वैक्सीन के निर्यात पर भारतीय प्रतिबंध के कारण देरी हो गई। इस बीच, पाकिस्तान ने चीन की एक डोज वाली कैनसिनो वैक्सीन का प्रसंस्करण शुरू कर दिया है। टीका इस महीने के अंत तक उपयोग के लिए उपलब्ध होने की उम्मीद है। दक्षिण एशियाई देश वर्तमान में चीन के सिनोफार्म और कैनसिनो टीकों का उपयोग कर रहा है और उसने कोविड -19 टीकों की व्यावसायिक बिक्री की अनुमति भी दी है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS

अफगानिस्तान: अब तक 78 लोगों की बाढ़ के कारण हुई मौत

अफगानिस्तान में पिछले सप्ताह भारी बारिश और बाढ़ के कारण कम से कम 78 लोगों की मौत हो गई है, देश के राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एएनडीएमए) ने शनिवार को जानकारी दी। एएनडीएमए के प्रवक्ता अहमद तमीम आजमी ने बताया कि तीस लोग घायल हो गए हैं और 32 अन्य अभी भी लापता हैं। अजीमी ने कहा कि लगभग 2,600 आवासीय घर नष्ट हो गए हैं और 3,600 के करीब जानवर मर गए हैं। इसके अलावा, परिवहन मार्ग और 5,000 एकड़ से अधिक कृषि भूमि नष्ट हो गई है।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia