दुनिया की खबरें: सऊदी अरब में हूती विद्रोहियों का हमला, 2 की मौत और मोरक्को ने अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों के लिए प्रतिबंध बढ़ाया

सऊदी अरब के दक्षिणी सीमावर्ती शहर जिजान में देर रात यमन के विद्रोहियों ने हमला कर दिया, हमले में दो नागरिकरों की मौत हो गई और मोरक्कन एयरपोर्ट अथॉरिटी (ओएनडीए) ने अंतर्राष्ट्रीय उड़ान प्रतिबंध को एक और महीने के लिए 31 जनवरी, 2022 तक बढ़ाने की घोषणा की है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

पवन नौटियाल

हूती विद्रोहियों ने सऊदी अरब पर किया हमला, दो लोगों की मौत

सऊदी अरब और हूती विद्रोहियों के बीच जंग लगातार बढ़ रही है। सऊदी अरब के दक्षिणी सीमावर्ती शहर जिजान में देर रात यमन के विद्रोहियों ने हमला कर दिया। जिसमें दो लोगों की मौत हो गई और सात अन्य घायल हो गए। घायलों में से छह सऊदी अरब के हैं और एक बांग्लादेशी नागरिक है। हमले में आसपास की कारों और दुकानों को भी नुकसान पहुंचा है। यमन में शिया हूती विद्रोहियों के लंबे समय से चल रहे गृह युद्ध में यह ताजा सीमा पार हमला है। पहले भी हूतियों ने कई बार सऊदी अरब की तेल फैसिलिटी और अन्य शहरों पर हमले किए हैं। इससे पहले सऊदी अरब की अगुवाई वाली गठबंधन सेना ने यमन में विद्रोहियों के कब्जे वाली राजधानी सना पर कई हवाई हमले किए।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

द. कोरियाई तट रक्षक ने चीनी नाव को किया जब्त

दक्षिण कोरियाई तटरक्षक बल ने कथित तौर पर गलत सूचना देने पर जहाज के लॉग रखने के आरोप में एक चीनी मछली पकड़ने वाली नाव को जब्त कर लिया है। अधिकारियों ने शनिवार को यह जानकारी दी। योनहाप समाचार एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार, दक्षिण-पश्चिमी तट पर मोकपो में स्थित तटरक्षक बल ने कहा कि उन्होंने शुक्रवार को दोपहर लगभग 3।50 बजे 99 टन के एक जहाज को दक्षिण जिओला प्रांत के शिनान में स्थित एक द्वीप से लगभग 180 किमी दक्षिण में, सियोल से लगभग 350 किमी दक्षिण में जब्त किया गया। अधिकारियों के अनुसार, अज्ञात जहाज पर संचालन नियमों के उल्लंघन के कुछ 48 मामलों का संदेह है, जैसे कि जहाज के लॉग में तारीखों और हस्ताक्षरों का जिक्र है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

ओमिक्रॉन का खतरा! मोरक्को ने अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों के लिए प्रतिबंध बढ़ाया

मोरक्कन एयरपोर्ट अथॉरिटी (ओएनडीए) ने अंतर्राष्ट्रीय उड़ान प्रतिबंध को एक और महीने के लिए 31 जनवरी, 2022 तक बढ़ाने की घोषणा की है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, कैबिनेट बैठक के दौरान, उत्तरी अफ्रीकी देश ने पूरे देश में स्वास्थ्य आपातकाल की स्थिति को 31 जनवरी, 2022 तक बढ़ा दिया है। अंतर्राष्ट्रीय यात्री उड़ानों का निलंबन और मोरक्को की हवाई सीमाओं को बंद करना 29 नवंबर को लागू हुआ, ताकि नए कोरोना ओमिक्रॉन वेरिएंट को फैलने से रोका जा सके। इसने विदेशों में फंसे अपने नागरिकों की प्रत्यावर्तन उड़ानों को भी रोक दिया है, जिन्हें पुर्तगाल, तुर्की और यूएई से 15 से 23 दिसंबर के बीच लॉन्च किया गया था। मोरक्को से केवल विशेष प्रत्यावर्तन उड़ानें अब अधिकृत हैं, विशेष रूप से फ्रांस, तुर्की, अमेरिका और खाड़ी देशों के लिए ही जा सकती हैं। इस बीच, स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, मोरक्को में बीते 24 घंटे में कोरोना के 654 नए मामले सामने आए जबकि 237 लोग रिकवर हुए हैं। अब तक कुल 24,525,567 लोगों को कोरोना वैक्सीन की पहली खुराक मिली है और पूरी तरह से टीका लगाने वालों की संख्या बढ़कर 22,885,067 तक पहुंच गई है, जबकि 2,655,175 लोगों को बूस्टर शॉट मिला है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

महासभा ने 2022 के लिए संयुक्त राष्ट्र के नियमित बजट को मंजूरी दी

महासभा ने संयुक्त राष्ट्र के लिए लगभग 3.122 अरब डॉलर के वार्षिक नियमित बजट को मंजूरी दी है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, 2022 का बजट पिछले साल की तुलना में थोड़ा कम है। नियमित बजट में राजनीतिक मामलों, अंतर्राष्ट्रीय न्याय और कानून, विकास के लिए क्षेत्रीय सहयोग, मानवाधिकार और मानवीय मामलों और सार्वजनिक सूचना सहित कई क्षेत्रों में संयुक्त राष्ट्र की गतिविधियों को शामिल किया गया है। विश्व निकाय के पास अपने शांति अभियानों के लिए एक अलग बजट है। 30 जून, 2022 को समाप्त होने वाले वित्तीय वर्ष के लिए शांति स्थापना बजट 6.38 अरब डॉलर है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

तुर्की ने 770 व्यक्तियों और यूएस-आधारित फाउंडेशन की संपत्ति को किया फ्रीज

तुर्की ने देश के आधिकारिक राजपत्र में एक निर्णय प्रकाशित किया है, जिसके अनुसार, आतंकवादी समूहों के साथ कथित संबंधों को लेकर 770 व्यक्तियों और एक यूएस-आधारित फाउंडेशन की संपत्ति को फ्रीज कर दिया है। सिन्हुआ समाचार एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार, इस सूची में गुलेन मूवमेंट के 454 सदस्य शामिल थे, जिन पर तुर्की सरकार ने 15 जुलाई 2016 को असफल तख्तापलट के पीछे होने का आरोप लगाया था। अमेरिका स्थित नियाग्रा फाउंडेशन की संपत्ति भी जब्त कर ली गई है। इस बीच, निर्णय ने गैरकानूनी कुर्दिस्तान वर्कर्स पार्टी (पीकेके) के 108 सदस्यों, इस्लामिक स्टेट, अल नुसरा, हिजबुल्लाह और अल कायदा जैसे आतंकवादी संगठनों के 119 सदस्यों और वामपंथी समूहों के 89 सदस्यों को निशाना बनाया।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia