पाकिस्तान: अगर ऐसा हुआ तो दो महीने भी नहीं चल पाएगी शहबाज शरीफ की सरकार!

पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक, पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) अपने रैंकों में विभाजन के कारण नए पाकिस्तान संघीय मंत्रिमंडल में शामिल नहीं होना चाहती है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

शहबाज शरीफ के शपथ लेने के अगले दिन ही ऐसी खबरें आने लगी हैं जो इस नए सरकार के लिए अच्छी नहीं कही जा सकती। पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक, पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) अपने रैंकों में विभाजन के कारण नए पाकिस्तान संघीय मंत्रिमंडल में शामिल नहीं होना चाहती है। इस संबंध में, सूत्रों ने कहा कि पीपीपी अध्यक्ष बिलावल भुट्टो जरदारी और सह-अध्यक्ष आसिफ अली जरदारी ने अलग-अलग और विरोधाभासी विचारों के आलोक में इस मामले पर विचार-विमर्श शुरू कर दिया है।

सूत्रों ने कहा कि पीपीपी के अधिकांश नेता मंत्रालयों का प्रभार लिए बिना चुनाव सुधारों के लिए नई संघीय सरकार का समर्थन मांग रहे हैं।



कुछ नेताओं की राय है कि उन्हें राजनीतिक स्थिरता के लिए संघीय मंत्रिमंडल में शामिल होना चाहिए। उनका मानना है कि राजनीतिक स्थिरता के लिए भागीदारी जरूरी है और अगर वे कैबिनेट में शामिल नहीं हुए तो गठबंधन सरकार दो महीने भी नहीं चल पाएगी।

उन्होंने कहा कि पीपीपी को संघीय कैबिनेट में शामिल करने पर अगले कुछ दिनों में फैसला लिया जाएगा।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 12 Apr 2022, 4:52 PM
;