अविश्वास प्रस्ताव का सामना करने से पहले इमरान खान ने चली नई चाल! अपनी सरकार गिरने से बचाने में हो पाएंगे कामयाब?

पाकिस्तान में रमजान का चांद नजर आने के बाद पीएम इमरान खान ने एक ट्वीट कर अपने देश के लोगों को कर्बला की जंग की याद दिलाई और कहा कि अब लड़ाई हक़ (सच्चाई) और बातिल (झूठ) के बीच है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

अविश्वास प्रस्ताव का सामना करने से पहले पाकिस्तान के पीएम इमरान खान लगातार नई नई चालें चल रहे हैं, ताकि वह अपनी सरकार को गिरने से बचा सकें। आज पाकिस्तान की असेंबली में इमरान खान को अविश्वास प्रस्ताव का सामना करना है। इससे पहले पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने अपने समर्थकों विशेषकर युवाओं से आह्वान किया है कि वे बाहर आएं और उन्हें सत्ता से बेदखल करने के लिए 'अमेरिका की ओर रची गई अंतरराष्ट्रीय साजिश' के खिलाफ 'शांतिपूर्वक विरोध' करें।

पाकिस्तानी अखबार डॉन ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि श्री इमरान ने संसद की सभी महत्वपूर्ण बैठकों के लिए अपनी पार्टी की रणनीति के बारे में भी अपना विचार बदल दिया है और घोषणा की है कि वह अविश्वास प्रस्ताव पर बहस के दौरान सदन में मौजूद रहेंगे। उन्होंने पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के सांसदों को रविवार की कार्यवाही में भाग लेने और प्रधानमंत्री के तौर पर उनका (इमरान) का मुखर बचाव करने का निर्देश दिया है।

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान ने टेलीविजन पर जनता के साथ लाइव सवाल-जवाब के दौरान लोगों से उनको (इमरान) प्रधानमंत्री पद से हटाए जाने की कोशिश का विरोध का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि रविवार के महत्वपूर्ण वोट के लिए उनके पास "एक से अधिक योजनाएं" हैं और दावा किया कि वह इस प्रकरण में राष्ट्र आश्चर्य करेंगे ।

पाकिस्तान में रमजान का चांद नजर आने के बाद पीएम इमरान खान ने एक ट्वीट कर अपने देश के लोगों को कर्बला की जंग की याद दिलाई और कहा कि अब लड़ाई हक़ (सच्चाई) और बातिल (झूठ) के बीच है। इमरान खान ने ट्वीट कर कहा, "कर्बला में इमाम हुसैन को एक ऐसे दुश्मन का सामना करना पड़ रहा था जो संख्या में उनसे बहुत अधिक था। इमाम हुसैन, उनके परिवार और अनुयायियों ने लोगों को हक (सही / सच) और बातिल (झूठ) के बीच अंतर दिखाने के लिए अपना जीवन लगा दिया। आज हम झूठ और देशद्रोह के खिलाफ सच्चाई और देशभक्ति के लिए लड़ रहे हैं।"

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 03 Apr 2022, 9:20 AM