मोदी-ट्रम्प की मुलाकात से बौखलाए इमरान खान, न्यूक्लियर हथियारों का नाम लेकर कहा-हम किसी भी हद तक जाएंगे

पाक पीएम इमरान खान ने कश्मीरियों की आजादी के लिए हर सप्ताह आधा घंटा काम रोक कर सड़क पर आने का पाकिस्तानियों से आव्हान किया है। लेकिन माना है कि दुनिया के मुस्लिम देश उनके साथ नहीं हैं। उन्होंने धमकी दी कि वे किसी भी हद तकजा सकते हैं क्योंकि उनके पास भी न्यूक्लियर हथियार हैं।

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

  • इमरान ने दी न्यूक्लियर हथियारों की धमकी
  • पाकिस्तानियों से हर सप्ताह आधे घंटे के लिए बाहर निकलने का आव्हान
  • इमरान को डर, पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर पर भारत न कर दे हमला
  • पाक ने माना दुनिया के इस्लामी देश उसके साथ नहीं

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की बौखलाहट अब पूरी तरह खुलकर सामने आ गई है। फ्रांस में प्रधानमंत्री मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प की मुलाकात के फौरन बाद इमरान खान ने राष्ट्र को संबोधित करते हुए कहा कि दोनों देशों के पास न्यूक्लियर हथियार हैं और कश्मीर के लिए वे किसी भी हद तक जाएंगे। उन्होंने पूरे देश से हर सप्ताह आधे घंटे के लिए बाहर निकलकर कश्मीरियों का समर्थन करने का आव्हान किया। उन्होंने कहा कि “जब तक कश्मीरियों के आजादी नहीं मिलेगी, हम उनके साथ खड़े रहेंगे।”

इमरान खान ने कहा कि, “स्कूल हो, कॉलेज हो, जो जहां भी हो, वह कश्मीर के लिए बाहर निकलेगा। हर सप्ताह सारी कौम कश्मीरियों के लिए बाहर निकलेगी, आधा घंटा कश्मीरियों के लिए देना होगा।“ उन्होंने विकसित देशों की आलोचना करते हुए कहा कि ये देश सिर्फ अपना बाजार और कारोबार देखते हैं। उन्होंने संयुक्त राष्ट्र से अपील की कि दुनिया के सवा अरब मुसलमानों को उससे उम्मीदें हैं।

इमरान खान ने कहा कि भारत ने कश्मीर पर अपना आखिरी दांव खेल दिया है, और वक्त साबित करेगा कि भारत ने जो कुछ किया वह गलत किया है। उन्होंने धमकी दी कि, “यह मसला अगर जंग की तरफ चला गया तो याद रखें दोनों देशों के पास न्यूक्लियर हथियार हैं। दुनिया हमारे साथ हो या न हो, हम आखिरी हद तक जाएंगे। दोनों देशों के पास न्यूक्लियर हथियार हैं, जंग कोई नहीं चाहेगा।“

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने कहा कि उन्हें सूचना थी कि भारत, पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में हमला करना चाहता था।। उन्होंने कहा कि भारत ने कश्मीर को अपना हिस्सा बताकर वैश्विक संस्थाओं के समझौतों का उल्लंघन किया है। उन्होंने कहा कि भारत चाहता है कि पाकिस्तान दीवालिया हो जाए। उन्होंने कहा कि, “ भारत ने एफएटीएफ में पाकिस्तान को ब्लैकलिस्ट कारने की कोशिश की। भारत ने पूरी कोशिश की कि पाकिस्तान को ब्लैकलिस्ट किया जाए। लेकिन पाकिस्तान की कश्मीर नीति का निर्णायक समय आ गया है।“

इमरान खान ने कहा कि, “भारत का इरादा आतंकवाद के बहाने कश्मीरियों पर जुल्म ढाने का था। हमें सूचना थी कि भारत पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में बालाकोट की तरह हमला करना चाहता है और दुनिया का ध्यान कश्मीर से हटाकर पाकिस्तान पर डालना चाहता है। लेकिन हम कश्मीर के मुद्दे को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ले गए और कई देशों के राष्ट्राध्यक्षों से इस बारे में बात की।”

उन्होंने कहा कि हमारी सेना पूरी तरह तैयार है और अब अगर भारत कुछ करता है उसके लिए पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में कुछ करना बहुत मुश्किल होगा।

Published: 26 Aug 2019, 7:39 PM
लोकप्रिय