अमेरिकी राष्ट्रपति के खिलाफ फेसबुक और ट्विटर का बड़ा कदम, कोरोना पर ट्रंप का भ्रामक वीडियो हटाया

हाल ही में अपने अकाउंट पर शेयर भ्रामक वीडियो में ट्रंप बता रहे थे कि कैसे बच्चे कोरोना वायरस से “करीब-करीब इम्यून” होते हैं। इस संदेश के पीछे ट्रंप की मंशा थी कि अमेरिका में सितंबर से बच्चों के स्कूल खोले जाने के उनके फैसले के प्रति समर्थन जुटाया जा सके।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

DW

यूरोप समेत दुनिया भर में कोरोना वायरस के संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं और उधर सोशल मीडिया के माध्यम से अब भी इसके संक्रमण को लेकर फेक न्यूज से लेकर कई तरह की भ्रामक जानकारियां तैर रही हैं। फेसबुक और ट्विटर जैसे बड़े सोशल मीडिया प्लेटफॉर्मों पर ऐसे सूचनाओं को छांटने और उनका प्रसार रोकने के लिए कंपनियां कई तरह के प्रयास कर रही हैं। ऐसे में जब अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के अकाउंट से एक वीडियो शेयर हुआ, जिसमें वह कोरोना को लेकर कुछ अपुष्ट दावे करते नजर आ रहे थे, तो इन साइटों ने उसे ब्लॉक कर दिया।

वीडियो में ट्रंप बता रहे थे कि कैसे बच्चे कोरोना वायरस से "करीब-करीब इम्यून” होते हैं। इसे "भ्रामक जानकारी" बताते हुए फेसबुक ने तो इस वीडियो क्लिप को ट्रंप के अकाउंट से हटा ही दिया। यह एक असाधारण कदम कहा जा सकता है, क्योंकि इसके पहले कभी कंपनी ने किसी राष्ट्रपति के पोस्ट को अपने कंटेंट के नियमों का उल्लंघन करने वाला बताते हुए नहीं हटाया था। फेसबुक के प्रवक्ता ने समाचार एजेंसी एएफपी से बातचीत में कहा, "यह दावा करना कि लोगों का कोई समूह कोविड-19 के प्रति इम्यून है, हमारी हानिकारक कोविड-19 भ्रामक सूचना की नीति का उल्लंघन है।”

वहीं माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर ने बताया कि उसने ट्रंप के आधिकारिक चुनाव प्रचार अभियान वाले खाते को ब्लॉक कर दिया है। इसका कारण बना ट्रंप का एक ट्वीट संदेश जिसमें वही वीडियो शेयर किया गया था। इस संदेश के पीछे ट्रंप की मंशा थी कि अमेरिका में सितंबर से बच्चों के स्कूल खोले जाने के उनके फैसले के प्रति समर्थन जुटाया जा सके। हालांकि, ब्लॉक होने के कुछ ही देर बाद फिर से अभियान का अकाउंट एक्टिव हो गया, जिसका अर्थ हुआ कि ऐतराज वाले कंटेट को हटा दिया गया है।

अकेले अमेरिका में अब तक डेढ़ लाख से भी अधिक लोगों की कोविड-19 के कारण जान जा चुकी है। कुल 48 लाख संक्रमण के मामलों के साथ अमेरिका विश्व में सबसे अधिक प्रभावित देश बना हुआ है। अब तक विश्व भर में कोरोना वायरस के चलते सात लाख से भी अधिक लोगों की जान चली गई है। इनमें से यूरोप और लैटिन अमेरिका में दो-दो लाख से अधिक मौतें हुई हैं। इनमें भी अकेले ब्राजील में 29 लाख संक्रमण हैं और मरने वालों की तादाद एक लाख के करीब जाती दिख रही है।

लोकप्रिय
next