Russia Ukraine crisis: यूक्रेन-रूस जंग की तबाही से बचने के भारतीयों को यूक्रेन छोड़ने की सलाह, कहा- स्वदेश लौटें

यूक्रेन की राजधानी कीव स्थित भारतीय दूतावास ने यूक्रेन पर रूसी आक्रमण के मंडराते खतरे के बीच, वहां स्थित भारतीय छात्रों, विशेषकर उन छात्रों को, जिनका रहना आवश्यक नहीं है, स्वदेश लौटने को कहा है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

रूस और यूक्रेन के बीच पिछले कई दिनों से तनातनी बनी हुई है और दोनों के देशों के बीच युद्ध का खतरा मंडरा रहा है। एक ओर जहां यूक्रेन के राष्ट्रपति ने अपने फेसबुक पोस्ट के जरिए दावा करते हुए कहा कि कल रूस की ओर से यूक्रेन पर हमला किया जा सकता है, वहीं अमेरिका की ओर से भी बिना किसी चेतावनी के रूस की ओर से हमला किए जाने की आशंका जताई है।

इन सबके बीच भारत ने भी एडवाइजरी जारी कर अपने नागरिकों को यूक्रेन छोड़ने के लिए कह दिया है। राजधानी कीव स्थित भारतीय दूतावास ने यूक्रेन पर रूसी आक्रमण के मंडराते खतरे के बीच, वहां स्थित भारतीय छात्रों, विशेषकर उन छात्रों को, जिनका रहना आवश्यक नहीं है, स्वदेश लौटने को कहा है। जो लोग यूक्रेन में रूके रहेंगे उन्हें दूतावास के संपर्क में रहना होगा।

उधर, मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो रूस और यूक्रेन के बीच सीमा पर तनाव बरकरार है। रूस ने यूक्रेन की सीमा पर हथियारों और सैनिकों की बड़ी संख्या को तैनात कर दिया है। मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा कि यूक्रेन की सीमा पर 1.3 लाख सैनिकों की तैनाती की गई है। साथ ही रूस ने टैंक, भारी हथियार और मिसाइलों को भी यूक्रेन की ओर तैनात कर दिया है. रूस ने यूक्रेन को तीन तरफ से घेर लिया है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia