यूक्रेन में भारतीय दूतावास अस्थायी रूप से पोलैंड स्थानांतरित, हालात की समीक्षा के बाद आगे लिया जाएगा फैसला

एक दिन पहले पीएम मोदी ने रूस-यूक्रेन युद्ध के संदर्भ में मौजूदा वैश्विक परिदृश्य की समीक्षा के लिए सीसीएस बैठक की अध्यक्षता की। उन्होंने खारकीव में मारे गए भारतीय नवीन के पार्थिव शरीर को वापस लाने के लिए हर संभव प्रयास करने के निर्देश दिए।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध को देखते हुए यूक्रेन में भारतीय दूतावास को अस्थायी रूप से पोलैंड स्थानांतरित कर दिया गया है। विदेश मंत्रालय ने रविवार को इसकी जानकारी दी। रविवार को विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि यूक्रेन में भारतीय दूतावास को अस्थायी रूप से पोलैंड स्थानांतरित कर दिया जाएगा।

विदेश मंत्रालय ने कहा कि यूक्रेन में तेजी से बिगड़ती सुरक्षा स्थिति को देखते हुए, जिसमें देश के पश्चिमी हिस्सों में हमले भी शामिल हैं, यह निर्णय लिया गया है कि यूक्रेन में भारतीय दूतावास को पोलैंड में अस्थायी रूप से स्थानांतरित किया जाएगा। आगे के घटनाक्रम के आलोक में स्थिति का पुनर्मूल्यांकन किया जाएगा।


एक दिन पहले, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत की सुरक्षा तैयारियों और यूक्रेन में चल रहे संघर्ष के संदर्भ में मौजूदा वैश्विक परिदृश्य की समीक्षा के लिए सीसीएस बैठक की अध्यक्षता की।
बैठक के दौरान, उन्हें युद्धग्रस्त राष्ट्र से भारत के पड़ोसी देशों के कुछ नागरिकों के साथ-साथ भारतीय नागरिकों को निकालने के लिए ऑपरेशन गंगा के विवरण सहित यूक्रेन में ताजा घटनाओं के बारे में जानकारी दी गई।

बैठक के दौरान पीएम मोदी ने निर्देश दिया कि खारकीव में मारे गए भारतीय नवीन शेखरप्पा के पार्थिव शरीर को वापस लाने के लिए हर संभव प्रयास किए जाएं। इसके अलावा बैठक के दौरान पीएम मोदी ने दोनों देशों के युद्ध के संदर्भ में भारत की सुरक्षा तैयारियों पर भी चर्चा की और कई अहम निर्देश दिए।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia