इराक में अमेरिकी सैन्य ठिकानों पर फिर दागे गए रॉकेट, चार सैनिक हुए घायल

इससे पहले ईरान ने अपने जनरल कासिम सुलेमानी की मौत का बदला लेने के लिए 7 जनवरी को इराक में अमेरिकी सेना के दो एयरबेस पर करीब एक दर्जन मिसाइलों दागीं थीं। इसके बाद ईरान ने दावा किया था कि उसके द्वारा किए गए हमले में 80 अमेरिकी सैनिक मारे गए हैं।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

ईरान और अमेरिका के बीच तनातनी जारी है। एक बार फिर अमेरिका पर बड़ा हमला किया गया है। इराक के अल बलाद एयरबेस पर अमेरिकी ठिकानों पर कई मिसाइलें दागी गई हैं। खबरों के मुताबिक, इस हमले में चार इराकी सैनिकों के घायल होने की खबर है। हालांकि ईरान ने फिलहाल इस हमले की जम्मेदारी नहीं ली है।

हमले के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट कर कहा, “राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने आज सुझाव दिया कि प्रतिबंधों और विरोध प्रदर्शनों ने ईरान को घुटने के बल ला दिया है, अब वह बातचीत के लिए मजबूर हो जाएंगे। वास्तव में अगर वे बातचीत करते हैं तो मैं बेपरवाह नहीं हूं। यह पूरी तरह से उनके ऊपर होगा।”

ताजा हमले के बाद अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने कहा कि वे काफी गुस्से में हैं। उन्होंने कहा कि मैं घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की प्रार्थना करता हूं। उन्होंने कहा कि इराक सरकार के दुश्मना लगातार उसकी स्वायत्ता का उल्लंघन कर रहे हैं, यह अब बंद होना चाहिए।

इससे पहले ईरान ने अपने जनरल कासिम सुलेमानी की मौत का बदला लेने के लिए 7 जनवरी को इराक में अमेरिकी सेना के दो एयरबेस पर करीब एक दर्जन मिसाइलों दागी थीं। इसके बाद ईरान ने दावा किया था कि उसके द्वारा किए गए हमले में 80 अमेरिकी सैनिक मारे गए हैं। हालांकि, बाद में अमेरिका ने ईरान के दावे का खंडन किया था। खुद अमेरिकी राष्ट्रपति मीडिया के सामने आए थे। उन्होंने कहा था कि ईरान के हमले में एक भी अमेरिकी नहीं मारा गया है।

इसे भी पढ़ें: वीडियो: ट्रंप की धमकी बेअसर, ईरान ने इराक में अमेरिकी सेना के एयरबेस पर दागी ताबड़तोड़ 12 मिसाइलें

Published: 13 Jan 2020, 9:49 AM
लोकप्रिय