अमेरिकी सैन्य ठिकानों पर मिसाइल बरसाने के बाद ईरान ने कहा- अमेरिका के मुंह पर जड़ दिया तमाचा

ईरान के सुप्रीम लीडर आयतुल्लाह अली खामेनेई ने कहा है कि हमने अमेरिका के मुंह पर करार तमाचा जड़ा है। इससे पहले ईरान की तरफ से एक बयान में कहा गया था कि हमने इराक में अमेरिका के सैन्य ठिकानों पर हमला कर 80 अमेरिकी आतंकवादियों को मार गिराया है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

अमेरिका द्वारा ईरान के सैन्य प्रमुख कासिम सुलेमानी की हत्या के बाद से दोनों देशों के बीच का तनाव चरम पर पहुंच चुका है। ईरान ने अपने ताजा बयान में कहा है कि अमेरिका के सैन्य ठिकानों पर हमला उसके मुंह पर ईरान की ओर से करारा तमाचा है।

इराक में अमेरिकी सैन्य ठिकानों पर मिसाइल दागने के बाद ईरान के सुप्रीम लीडर आयतुल्लाह अली खामेनेई ने कहा है कि हमने अमेरिका के मुंह पर करार तमाचा जड़ा है। ईरान की ओर से एक बयान में कहा गया है कि तुम अगर सुलेमानी का हाथ काटोगे तो हम तुम्हें उखाड़ फेकेंगे। ईरान ने कहा है कि हम सैन्य क्षेत्रों से अमेरिका के पांव उखाड़ देंगे।

इससे पहले ईरान की तरफ से एक बयान और जारी हुआ था, जिसमें कहा गया था कि हमने इराक में अमेरिका के सैन्य ठिकानों पर हमला कर 80 अमेरिकी आतंकवादियों को मार गिराया है।

बता दें कि ईरान ने अपने जनरल कासिम सुलेमानी की हत्या का बदला लेते हुए इराक में अमेरिकी सेना द्वारा इस्तेमाल किए जा रहे दो एयरबेस पर करीब दर्जनभर मिसाइलें दागी। पेंटागन ने इसकी पुष्टि की। पेंटागन ने ट्वीट कर कहा, “7 जनवरी को ईरान ने इराक में अमेरिकी सेना और गठबंधन सेना के एयरबेस पर एक दर्जन से अधिक बैलिस्टिक मिसाइलों दागी हैं। यह स्पष्ट है कि इन मिसाइलों को ईरान ने दागा है।”

ईरान ने अल-असद और इरबिल में अमेरिकी सेना द्वारा इस्तेमाल किए जा रहे एयरबेस को निशाना बनाया। इससे पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप में धमकी दी थी कि अगर ईरान ने कोई हमला किया तो उसे अंजाम भुगतना होगा।

डोनाल्ड ट्रंप ने 5 जनवरी को ट्वीट कर कहा था, “उन्होंने (ईरान ने) हम पर हमला किया और हमने जवाबी कार्रवाई की। अगर वे फिर से हमला करते हैं, जो मैं उन्हें सलाह देता हूं कि वे ऐसा न करें, वरना हम उनके ऊपर पहले से कहीं ज्यादा बड़े हमले करेंगे।”

एक अन्य ट्वीट अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा था, “संयुक्त राज्य अमेरिका ने सैन्य उपकरणों पर केवल दो ट्रिलियन डॉलर खर्च किए हैं। हम दुनिया में सबसे बड़े और सबसे अच्छे सैन्य ताकत हैं। अगर ईरान किसी अमेरिकी अड्डे, या किसी अमेरिकी पर हमला करता है, तो हम बिना किसी हिचकिचाहट के उस ब्रांड के कुछ नए खूबसूरत उपकरणों को उनके रास्ते भेजेंगे।”

लोकप्रिय