Israel Hamas War: जंग के बीच गाजा में और भयावह हुए हालात! अब 23,469 फिलिस्तीनी मारे गए, इनमें 10 हजार बच्चे शामिल

'सेव द चिल्ड्रेन' की एक नई रिपोर्ट के मुताबिक, गाजा में करीब 100 दिनों के युद्ध के बाद, कम से कम 10 हजार बच्चे मारे जा चुके हैं। कुल घायलों की संख्या 59,604 हो गई है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

इजरायल और हमास के बीच जंग जारी है। इजरायल गाजा पर लगातार भीषण बमबारी कर रहा है। बमबारी में हर दिन दर्जनों फिलिस्तीनी मारे जा रहे हैं। फिलिस्तीनी स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, पिछले 24 घंटे में कम से कम 112 फिलिस्तीनी मारे गए। इस दौरान 194 लोग घायल हो हो गए। फिलिस्तीनी की समाचार एजेंसी वफ़ा के मुताबिक, दक्षिणी गाजा के राफा शहर के पूर्व में एक आवासीय घर पर इजरायली हवाई हमले में कम से कम 9 फिलिस्तीनी नागरिकों की मौत हो गई और कई अन्य घायल हो गए।

एजेंसी ने बताया कि दक्षिणी गाजा में खान यूनिस के अल-मनारा पड़ोस में गुरुवार शाम को एक वाहन पर इजरायल द्वारा किए गए हवाई हमले में कम से कम 9 फिलिस्तीनी नागरिक मारे गए। जंग में मारे जा रहे फिलिस्तीनियों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। ताजा रिपोर्ट के मुताबिक, इजरायली हमलों में मारे जाने वाले फिलिस्तीनियों की संख्या बढ़कर 23,469 हो गई है। मारे गए लोगों में ज्यादातर बच्चे और महिलाएं शामिल हैं।

'सेव द चिल्ड्रेन' की एक नई रिपोर्ट के मुताबिक, गाजा में करीब 100 दिनों के युद्ध के बाद, कम से कम 10 हजार बच्चे मारे जा चुके हैं। कुल घायलों की संख्या 59,604 हो गई है।

मंत्रालय के प्रवक्ता अशरफ अल-केदरा ने बताया कि कुल घायलों में से 6,200 लोगों को गाजा के बाहर इलाज कराने की तत्काल आवश्यकता थी। उन्होंने कहा, "घायलों और हजारों विस्थापित लोगों की भीड़ के कारण दक्षिणी गाजा पट्टी के अस्पतालों में स्थिति बेहद भयावह है।"


विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के अनुसार गाजा के 36 अस्पतालों में से 15 आंशिक रूप से काम कर रहे हैं। अस्पतालों को विशेष सर्जन, न्यूरोसर्जन और गहन देखभाल स्टाफ सहित चिकित्सा कर्मचारियों की कमी के साथ-साथ चिकित्सा आपूर्ति की कमी जैसी चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है और यहां ईंधन भोजन और पीने के पानी की तत्काल आवश्यकता है।

दक्षिण में 9 आंशिक रूप से कार्यात्मक अस्पताल बुनियादी आपूर्ति और ईंधन की गंभीर कमी का सामना करते हुए अपनी क्षमता से तीन गुना अधिक काम कर रहे हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार आंतरिक रोगी विभागों में अधिभोग दर 206 प्रतिशत और गहन देखभाल इकाइयों में 250 प्रतिशत तक पहुंच रही है।

इस बीच अल केदरा ने संयुक्त राष्ट्र संस्थानों से आपदा आने से पहले विस्थापितों को पानी, भोजन और आश्रय प्रदान करने के लिए तत्काल हस्तक्षेप करने का भी आह्वान किया है। मानवीय मामलों के समन्वय के लिए संयुक्त राष्ट्र कार्यालय के अनुसार 1-11 जनवरी के बीच वाडी गाजा के उत्तर में भोजन, दवा, पानी और अन्य जीवनरक्षक आपूर्ति की योजनाबद्ध सहायता वितरण का केवल 21 प्रतिशत (24 में से 5) वितरण आगे बढ़ा है।

संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी एजेंसी का कहना है कि इस महीने तक 1.9 मिलियन लोग या गाजा की कुल आबादी का लगभग 85 प्रतिशत आंतरिक रूप से विस्थापित होने का अनुमान था, जिनमें से कई लोग कई बार विस्थापित हो चुके हैं।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;