इजरायली सेना के पास हमास के हमले का नहीं था जवाब, मुकाबला करने की योजना का भी था अभाव : रिपोर्ट

रिपोर्ट के अनुसार, ''कमांडो केवल ब्रीफ युद्ध के लिए हथियारों से लैस होकर जंग में उतरे। लक्ष्य चुनने के लिए हेलीकॉप्टर पायलटों को समाचार रिपोर्टों और टेलीग्राम चैनलों को देखने का आदेश दिया गया।''

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

हमास ने सात अक्टूबर को इजरायल पर हमला किया था। इस दौरान इजरायली सेना 'कम संख्या में' और 'स्थिति से बाहर' थी। द न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, इजरायली सेना इतने खराब ढंग से संगठित थी कि सैनिक अचानक व्हाट्सएप ग्रुपों में संवाद करते थे और टारगेट जानकारी के लिए सोशल मीडिया पोस्ट पर निर्भर रहते थे।

रिपोर्ट के अनुसार, ''कमांडो केवल ब्रीफ युद्ध के लिए हथियारों से लैस होकर जंग में उतरे। लक्ष्य चुनने के लिए हेलीकॉप्टर पायलटों को समाचार रिपोर्टों और टेलीग्राम चैनलों को देखने का आदेश दिया गया।''


समाचार रिपोर्ट में वर्तमान और पूर्व सैन्य कर्मियों का भी इंटरव्यू लिया गया है। जांच में यह भी पाया गया कि इजरायली सेना के पास हमास के किसी महत्वपूर्ण हमले के लिए कोई प्रतिक्रिया योजना या प्रशिक्षण नहीं था। सैनिकों ने इसे उस दिन चलते-चलते पूरा कर लिया था।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;