1880 के बाद से जुलाई रहा अब तक का सबसे गर्म महीना, अमेरिका में भी गर्मी ने तोड़े सारे रिकॉर्ड: नासा

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी ने बताया कि 1880 के बाद से जुलाई अब तक का सबसे गर्म महीना रहा। इस साल अमेरिका और यूरोप के कई शहर लू और जंगल की आग की चपेट में थे। अमेरिका में भी इस साल गर्मी ने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी ने बताया कि 1880 के बाद से जुलाई अब तक का सबसे गर्म महीना रहा। इस साल अमेरिका और यूरोप के कई शहर लू और जंगल की आग की चपेट में थे।अमेरिका में भी इस साल गर्मी ने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए।

न्यूयॉर्क में नासा के गोडार्ड इंस्टीट्यूट फॉर स्पेस स्टडीज (जीआईएसएस) के वैज्ञानिकों के अनुसार, जुलाई 2023 वैश्विक तापमान रिकॉर्ड में किसी भी अन्य महीने की तुलना में अधिक गर्म था।

जुलाई 2023 नासा के रिकॉर्ड में किसी भी अन्य माह की तुलना में 0.24 डिग्री सेल्सियस अधिक गर्म था। यह तापमान 1951 और 1980 के बीच औसत जुलाई की तुलना में 1.18 डिग्री सेल्सियस अधिक रहा।

ऊंचे तापमान का एक कारण समुद्र की सतह का तापमान भी रहा। नासा ने अपने विश्लेषण में कहा है कि पूर्वी उष्णकटिबंधीय प्रशांत क्षेत्र में गर्म समुद्र तल का तापमान मई 2023 में बढ़ना शुरू हुआ था, जो अल नीनो का प्रमाण है। 


नासा एडमिनिस्ट्रेटर बिल नेल्सन ने कहा कि नासा डेटा पुष्टि करता है कि दुनिया भर के अरबों लोगों ने वास्तव में क्या महसूस किया है। जुलाई 2023 में तापमान ने सारे रिकॉर्ड तोड़ते हुए इसे सबसे गर्म महीना बना दिया। अमेरिकी जलवायु संकट के प्रभावों का साफ तौर पर अनुभव कर रहे हैं।

विश्लेषण के अनुसार दक्षिण अमेरिका, उत्तरी अफ्रीका, उत्तरी अमेरिका और अंटार्कटिक प्रायद्वीप के हिस्से विशेष रूप से गर्म थे, जहां तापमान औसत से लगभग 4 डिग्री सेल्सियस अधिक बढ़ गया। कुल मिलाकर इस अत्यधिक गर्मी ने लाखों लोगों को प्रभावित किया जो सैकड़ों लोगों में बीमारियों और मौत का कारण बना। 


वाशिंगटन डीसी में नासा मुख्यालय में मुख्य वैज्ञानिक और वरिष्ठ जलवायु सलाहकार कैथरीन कैल्विन ने कहा कि जलवायु परिवर्तन दुनिया भर के लोगों और पारिस्थितिक तंत्रों को प्रभावित कर रहा है। गोडार्ड इंस्टीट्यूट फॉर स्पेस स्टडीज (जीआईएसएस) के निदेशक गेविन श्मिट ने कहा कि यह हमारे रिकॉर्ड में 1880 के बाद जुलाई 2023 सबसे गर्म महीना था

आईएएनएस के इनपुट के साथ

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;