कराची पुलिस के पास चीनी नागरिकों पर हमले की खुफिया रिपोर्ट थी, लेकिन फिर भी हमला रोकने में रहे नाकाम!

कराची के अतिरिक्त महानिरीक्षक गुलाम नबी मेमन ने कहा कि कराची पुलिस के पास शहर में चीनी नागरिकों पर हमले के संबंध में खुफिया रिपोर्ट थी। जियो न्यूज की रिपोर्ट में ये बात कही गई है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

कराची के अतिरिक्त महानिरीक्षक गुलाम नबी मेमन ने कहा कि कराची पुलिस के पास शहर में चीनी नागरिकों पर हमले के संबंध में खुफिया रिपोर्ट थी। जियो न्यूज की रिपोर्ट में ये बात कही गई है। उन्होंने कहा कि खुफिया रिपोर्ट के आलोक में विदेशी नागरिकों को सुरक्षा मुहैया कराई गई थी।

कराची पुलिस प्रमुख का यह बयान कराची विश्वविद्यालय के चीनी भाषा शिक्षण केंद्र कन्फ्यूशियस इंस्टीट्यूट में एक वैन के पास एक महिला आत्मघाती हमलावर द्वारा खुद को उड़ा लेने के बाद आया है। इस हमले में तीन चीनी नागरिकों समेत चार लोगों की मौत हो गई, जबकि चार अन्य घायल हो गए। मृत चीनी नागरिकों की पहचान कन्फ्यूशियस इंस्टीट्यूट के निदेशक हुआंग गुइपिंग, डिंग मुपेंग, चेन साई और उनके पाकिस्तानी ड्राइवर खालिद के रूप में हुई है।


शीर्ष पुलिस अधिकारी ने कहा, "पुलिस को चीनी नागरिकों को सुरक्षा खतरों के बारे में रिपोर्ट मिली थी और उन्हें सुरक्षा भी दी गई थी। हालांकि, ऐसी रिपोर्ट नहीं थी कि हमला एक आत्मघाती महिला हमलावर के जरिए होगा।"

गुलाम नबी मेमन ने कहा कि आत्मघाती बम विस्फोट के लिए कराची विश्वविद्यालय के एक छात्र का इस्तेमाल किया गया। हालांकि, विश्वविद्यालय के अंदर विस्फोटक कैसे भेजे गए, इसकी जांच की जा रही है। इस बीच, कराची विश्वविद्यालय ने इस रिपोर्ट को खारिज कर दिया है कि महिला आत्मघाती हमलावर यहीं पढ़ती थी।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia