खालिस्तान समर्थकों ने लंदन में भारतीय उच्चायोग से तिरंगा उतारने की कोशिश, भारत ने ब्रिटेन के राजदूत को किया तलब

स्वयंभू कट्टरपंथी उपदेशक अमृतपाल सिंह के खिलाफ पंजाब सरकार की कार्रवाई को लेकर कुछ खालिस्तानी समूहों ने लंदन में भारतीय उच्चायोग पर प्रदर्शन किया।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

विदेश मंत्रालय (एमईए) ने रविवार को देर रात भारत में ब्रिटेन के सबसे वरिष्ठ राजनयिक को तलब किया और कुछ खालिस्तान समर्थक समूहों द्वारा भारतीय उच्चायोग भवन से कथित रूप से तिरंगा नीचे उतारे जाने पर कड़ा विरोध जताया। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने मंत्रालय के एक बयान के साथ ट्वीट किया : "भारत ने यूके के साथ कड़ा विरोध दर्ज कराया।"

स्वयंभू कट्टरपंथी उपदेशक अमृतपाल सिंह के खिलाफ पंजाब सरकार की कार्रवाई को लेकर कुछ खालिस्तानी समूहों ने लंदन में भारतीय उच्चायोग पर प्रदर्शन किया।

विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि ब्रिटिश सुरक्षा की पूर्ण अनुपस्थिति के लिए स्पष्टीकरण मांगा गया था, जिसने इन तत्वों को उच्चायोग परिसर में प्रवेश करने की अनुमति दी थी। इसमें कहा गया, उसे इस संबंध में वियना कन्वेंशन के तहत ब्रिटेन सरकार के बुनियादी दायित्वों के बारे में याद दिलाया गया।


एक बयान में कहा गया है कि यह ब्रिटेन में भारतीय राजनयिक परिसरों और कर्मियों की सुरक्षा के लिए यूके सरकार की उदासीनता को अस्वीकार्य पाता है।

इसमें कहा गया है, उम्मीद की जाती है कि ब्रिटेन सरकार आज की घटना में शामिल प्रत्येक व्यक्ति की पहचान, गिरफ्तारी और मुकदमा चलाने के लिए तत्काल कदम उठाएगी और ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति को रोकने के लिए कड़े कदम उठाएगी।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;