तुर्की में भूकंप के 91 घंटे बाद हुआ चमत्कार, 4 साल की बच्ची मलबे के ढेर से जिंदा बचाई गई

राहत कार्य में लगे बचावकर्मियों को बच्ची अपने अपार्टमेंट के रसोईघर के मलबे में मिली। टीम ने बताया कि वह अभी अच्छी स्थिति में है और फिलहाल उसे एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हालांकि, ये पता नहीं चल सका है कि बच्ची के मां-बाप हादसे में सुरक्षित हैं या नहीं।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

तुर्की के पश्चिमी प्रांत इजमिर में आए भीषण भूकंप के 91 धंटे के बाद मंगलवार को एक चमत्कार के तहत बचावकर्मियों ने इमारतों के मलबे से चार साल की एक बच्ची को सुरक्षित बाहर निकाला है। रिपोर्ट के मुताबिक, एनटीवी ब्रॉडकास्टर के लाइव फुटेज में बचावकर्मियों द्वारा मलबे से बच्ची को बाहर निकालते हुए दिखाया गया है।

वहीं, एक बचावकर्मी ने एनटीवी को बताया कि टीम को बच्ची अपने अपार्टमेंट के रसोईघर के मलबे में मिली। बचावकर्मियों ने बताया कि वह अभी अच्छी स्थिति में है और फिलहाल उसे एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हालांकि, फिलहाल ये पता नहीं चल सका है कि बच्ची के मां-बाप इस हादसे में सुरक्षित हैं या नहीं।

इस बीच तुर्की के आपदा और आपातकालीन प्रबंधन प्राधिकरण (एएफएडी) ने कहा कि भूकंप में मरने वालों की संख्या बढ़कर 102 हो गई है और इस भयंकर हादसे में अब तक कुल 1,026 लोग घायल हुए हैं। एएफएडी ने कहा कि प्रांत में कुल पांच ध्वस्त इमारतों के मलबे के आसपास दिन-रात खोज और बचाव अभियान चल रहा है। बचावकर्मियों को अभी भी मलबे में और लोगों के दबे होने की आशंका है।

बता दें कि शुक्रवार को तुर्की और ग्रीस की सीमा पर भूकंप के तेज झटकों से भारी तबाही आई है। रिक्टर स्केल पर इस भूकंप की तीव्रता 7.0 मापी गई है। भूकंप के बाद ग्रीस में सुनामी का भी कहर टूट पड़ा था। भूकंप से सबसे ज्यादा नुकसान तुर्की के तीसरे सबसे बड़े शहर इजमिर में हुआ है, क्योंकि भूकंप का केंद्र इजमिर के पास एजियर सागर में था। इजमिर में भूकंप से कई इमारतें जमींदोज हो गईं और सड़कें कई जगह बीच से फट गईं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


लोकप्रिय