बांग्लादेश में दुर्गा पूजा पंडालों में तोड़फोड़ और हिंसा, पीएम शेख हसीना ने दंगाइयों को दी चेतावनी

कोमिला जिले में एक पूजा पंडाल में कुरान के कथित अपमान की अफवाह से जुड़ा सोशल मीडिया पोस्ट वायरल होने के बाद क्षेत्र में हिंसा भड़क गई। इसके बाद कई दुर्गा पूजा पंडालों में तोड़फोड़ शुरू हो गई। हिंसा रोकने के लिए 22 जिलों में भारी फोर्स तैनात की गई है।

फोटोः @DhakaTribune से साभार
फोटोः @DhakaTribune से साभार
user

नवजीवन डेस्क

बांग्लादेश में दुर्गा पूजा समारोह के दौरान एक अफवाह के बाद हिंसा भड़क गई है, जिसमें दुर्गा पूजा पंडालों को निशाना बनाया गया है और कई पंडालों में तोड़फोड़ की गई है। अचानक भड़की इस हिंसा में अब तक तीन लोगों की मौत की खबर है। हिंसा की आग कई जिलों में फैल गई है, जिसके बाद लिए 22 जिलों में भारी अर्द्धसैनिक बलों को तैनात किया गया है और पूजा पंडालों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

इस घटना के फौरन बाद बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने सामने आकर दंगाइयों को चेतावनी दी है। उन्होंने सख्त लहजे में कहा है कि जो कोई भी इस हमले में शामिल है, उन्हें बख्शा नहीं जाएगा, चाहे वे किसी धर्म के लोग हों। इस बीच धार्मिक मामलों के मंत्रालय ने एक इमरजेंसी नोटिस जारी किया है, जिसमें लोगों से कानून को अपने हाथ में नहीं लेने की अपील की गई है।

मिली जानकारी के अनुसार बांग्लादेश के कोमिला जिले में एक पूजा पंडाल में कुरान के कथित अपमान की अफवाह से जुड़ा सोशल मीडिया पोस्ट वायरल होने के बाद क्षेत्र में हिंसा भड़क गई। इसके बाद कई दुर्गा पूजा पंडालों में तोड़फोड़ शुरू हो गई। पीटीआई के अनुसार कोमिला में एक स्थानीय मंदिर को भी निशाना बनाया गया, जिसके बाद वहां हिंसक झड़प हो गई, जिसे पुलिस और प्रशासन ने काबू करने की कोशिश की। इसके बाद चांदपुर के हाजीगंज, चट्टोग्राम के बंशखली और कॉक्स बाजार के पेकुआ में भी तोड़फोड़ की घटनाएं सामने आईं।


बांग्लादेशी मीडिया के मुताबिक, झड़प के दौरान लोगों ने पुलिस और प्रशासन पर भी हमला कर दिया। डेली स्टार अखबार की रिपोर्ट के अनुसार कोमिला में हुई घटना के बाद चांदपुर के हाजीगंज में पुलिस और लोग आमने-सामने आ गए थे, जिससे वहां हुई झड़प में कम से कम तीन लोगों की मौत हो गई और कई लोग घायल हो गए। इसके बाद यहां बांग्लादेश पुलिस की रैपिड एक्शन बटालियन, पैरामिलिट्री फोर्स, बॉर्डर गार्ड बांग्लादेश (बीजीपी) के जवानों की भारी तादाद में तैनाती की गई।

बांग्लादेश के करीब 22 जिलों में बॉर्डर गार्ड बांग्लादेश (बीजीपी) को तैनात किया गया है। बीजीबी के डायरेक्टर ऑफ ऑपरेशन लेफ्टिनेंट कर्नल फैजुर रहमान ने बताया कि गृह मंत्रालय के अनुरोध पर दुर्गा पूजा के पंडालों में सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए बीजीबी के जवानों को तैनात किया गया है। उन्होंने कहा कि अगर जरूरत पड़ी तो और जवानों को तैनात किया जाएगा और सुरक्षा सुनिश्चित की जाएगी।


बता दें कि कोमिला के जिस इलाके में ये घटना हुई, वहां दशकों से हिंदू-मुसलमान शांति के साथ रह रहे हैं। यहां मुस्लिम समाज के लोग भी दुर्गा पूजा के दौरान पंडालों में जाते हैं और दुर्गा पूजा समारोहों में बढ़चढ़ कर हिस्सा लेते रहे हैं। यहां कभी रात को पूजा पंडालों में कोई खास सुरक्षा नहीं होती, लेकिन ऐसा पहली बार है जब इस क्षेत्र में इस तरह की घटना हुई है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia