तेजी से फैल रहा है मंकीपॉक्स वायरस, 30 देशों में पहुंचा, कुल केस 550 से अधिक हुए- WHO

डब्ल्यूएचओ प्रमुख ने कहा कि स्थिति विकसित हो रही है और हमें उम्मीद है कि और मामले सामने आ सकते है। इसके लक्षण अपने आप ठीक हो जाते हैं, लेकिन यह कुछ मामलों में गंभीर भी हो सकता है। डब्ल्यूएचओ उन समूहों को सटीक जानकारी प्रदान करने के लिए काम कर रहा है।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा है कि मंकीपॉक्स वायरस तेजी से फैल रहा है और लोगों को इसका पता नहीं चल पा रहा है। वैश्विक स्तर पर यह 30 देशों में पहुंच चुका है और कुल मामले 550 से अधिक हो गए हैं। निकाय ने प्रभावित देशों से व्यापक समुदाय में अपनी निगरानी बढ़ाने का आग्रह किया है।

डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक ट्रेडोस एडनॉम घेब्रेयसस ने एक बयान में कहा, अब तक अधिकांश मामले उन पुरुषों में सामने आए हैं, जो यौन स्वास्थ्य क्लीनिकों में लक्षणों वाले पुरुषों के साथ यौन संबंध रखते हैं, "कई देशों में एक ही समय में मंकीपॉक्स की अचानक उपस्थिति से पता चलता है कि कुछ समय के लिए बिना पता चले संचरण हो सकता है"।

जिनेवा में एक समाचार सम्मेलन के दौरान डब्ल्यूएचओ के मंकीपॉक्स तकनीकी प्रमुख डॉ रोसामुंड लुईस ने कहा कि वायरस महीनों या वर्षों तक बिना पता चले रह सकता है, हालांकि जांच जारी है और अभी तक कोई स्पष्ट स्थिति नहीं है। लुईस ने कहा, "हम वास्तव में नहीं जानते कि क्या इसमें बहुत देर हो चुकी है। डब्ल्यूएचओ और सभी सदस्य देश जो करने की कोशिश कर रहे हैं, वह आगे इसे फैलने से रोकना है।"


वैश्विक स्वास्थ्य निकाय ने भी प्रभावित देशों से व्यापक समुदाय में मामलों की तलाश करने के लिए अपनी निगरानी बढ़ाने का आग्रह किया है। कोई भी व्यक्ति मंकीपॉक्स से संक्रमित हो सकता है यदि वे संक्रमित किसी अन्य व्यक्ति के साथ निकट शारीरिक संपर्क रखते हैं।

डब्ल्यूएचओ प्रमुख ने कहा कि स्थिति विकसित हो रही है, और हमें उम्मीद है कि और मामले सामने आ सकते है। जबकि मंकीपॉक्स के लक्षण अपने आप ठीक हो जाते हैं, लेकिन यह कुछ मामलों में गंभीर भी हो सकता है। घेब्रेयसस ने कहा कि डब्ल्यूएचओ उन समूहों को सटीक जानकारी प्रदान करने के लिए काम कर रहा है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia