इज़रायल: नेतन्याहू ने मीडिया कंपनियों को फायदा पहुंचाया, बदले में मिला प्रचार, अब चलेगा महाभियोग

इज़रायल के इतिहास में पहली बार किसी मौजूदा प्रधानमंत्री पर महाभियोग चलाया जाएगा। प्रधानमंत्री नेतन्याहू पर आरोप है कि उन्होंने मीडिया कंपनियों से रिश्वत लेकर फायदा पहुंचाया और इन कंपनियों ने नेतन्याहू के लिए चुनाव प्रचार किया।

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू पर धोखाधड़ी, रिश्वत लेने और भ्रष्टाचार का महाभियोग चलेगा। ऐसा इतिहास में पहली बार हो रहा है कि किसी सत्ताधारी प्रधानमंत्री पर आपराधिक मुकदमा चल रहा है। इजरायल के अटार्नी जनरल ने बेन्यामिन नेतन्याहू के खिलाफ महाभियोग की प्रति नेतन्याहू के वकील और संसद के स्पीकर दोनों को भेज दी है। साथ ही इज़रायल के कानून मंत्रालय ने नेतन्याहू को पद से हटाने की कार्रवाई शुरू करने को कहा है।


नेतन्याहू पर जो आरोप लगे हैं उनमें सबसे अहम आरोप 'केस 4000' है, जिसमें पीएम नेतन्याहू और उनकी पत्नी के देश की मुख्य टेली कम्यूनिकेशन कंपनी के साथ संबंध बताए गए हैं। आरोपों में कहा गया है कि पीएम नेतन्याहू जब टेलीकॉम सेक्टर में मंत्री थे उस वक्त उन्होंने पद का दुरुपयोग करते हुए शाउल एलोवित्ज को सैकड़ों मिलियन डॉलर का फायदा पहुंचाया था। इसके बदले में शाउल एलोवित्ज के स्वामित्व वाली एक न्यूज वेबसाइट में बेंजामिन नेतन्याहू के पक्ष में सकारात्मक प्रचार-प्रसार की अनुमति प्रदान की थी।

इसके अलावा पुलिस ने रिश्वत के दो दूसरे मामलों में भी आरोपों की सिफारिश की है। इसमें से एक मामले में पीएम नेतन्याहू ने एक कारोबारी से दो लाख डॉलर के उपहार उस व्यापारी के हितों को साधने के बदले में लिए थे। एक अन्य आरोप पीएम नेतन्याहू और इजराइल के सबसे बड़े समाचार पत्र के प्रकाशक अर्नोन के बीच एक रिश्वत के मामले का है। गौरतलब है इजराइल में किसी भी दल को बहुमत न मिलने की वजह से दो बार चुनाव हो चुके हैं और तीसरी बार चुनाव की तैयारी की जा रही है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia