फिर अमेरिका को चिढ़ाएगा उत्तर कोरिया, विशाल सैन्य परेड में दिखाएगा हथियारों की ताकत

खबरों के मुताबिक रिहर्सल के दौरान एक हाइपरसोनिक ह्वासोंग-8 मिसाइल, एक ह्वासोंग-17 अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल (आईसीबीएम) और एक पनडुब्बी से प्रक्षेपित बैलिस्टिक मिसाइल (आईसीबीएम) समेत 250 से ज्यादा सैन्य उपकरणों के साथ परेड की गई है।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

उत्तर कोरिया में महत्वपूर्ण वर्षगांठ मनाई जाएगी। इस मौके पर हथियारों क्षमताओं को प्रदर्शित करने के लिए रविवार को आधी रात के आसपास एक विशाल सैन्य परेड आयोजित की जाएगी। जानकारों के मुताबिक इस विशाल सैन्य परेड में उन्नत हथियारों के प्रदर्शन के जरिये किम जोंग उन दुनिया को अपनी ताकत दिखाएंगे।

योनहाप समाचार एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार, उत्तर कोरियाई पीपुल्स रिवोल्यूशनरी आर्मी (केपीआरए) की 90वीं स्थापना वर्षगांठ के अवसर पर उत्तर कोरिया किम इल सुंग स्क्वायर पर परेड के लिए लगभग 20,000 सैनिकों के जुटने की संभावना है। ये सभी एंटी जापानी गुरिल्ला फोर्स से जुड़े है। एंटी जापानी गुरिल्ला फोर्स को 1932 में दिवंगत किम इल-सुंग ने स्थापित किया था।


सूत्रों के मुताबिक, रिहर्सल के दौरान एक हाइपरसोनिक ह्वासोंग-8 मिसाइल, एक ह्वासोंग-17 अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल (आईसीबीएम) और एक पनडुब्बी से प्रक्षेपित बैलिस्टिक मिसाइल (आईसीबीएम) समेत 250 से ज्यादा सैन्य उपकरणों के साथ परेड की गई है।

उत्तर कोरिया के दिवंगत नेता किम जोंग-इल की मृत्यु के बाद 2012 में उनके बेटे किम जोंग-उन के सत्ता में आने के बाद से उत्तर कोरिया ने अब तक नौ सैन्य परेड आयोजित की हैं, लेकिन उनमें से कोई भी केपीआरए की स्थापना की वर्षगांठ के मौके पर आयोजित नहीं हुई है।

उत्तर कोरिया ने आमतौर पर 15 अप्रैल को राष्ट्रीय संस्थापक किम इल-सुंग की जयंती, 10 अक्टूबर को सत्तारूढ़ वर्कर्स पार्टी की स्थापना की वर्षगांठ और 9 सितंबर को राष्ट्र की नींव पर इस तरह की परेड आयोजित की है। प्योंगयांग सोमवार को सरकारी टेलीविजन पर परेड की रिकॉर्डेड फुटेज प्रसारित कर सकता है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia