पाकिस्तान के पीएम ने इस खतरनाक आतंकी समूह को हथियार डालने और आत्मसमर्पण करने को कहा, क्या आएगा जवाब?

पाकिस्तान में इमरान खान के नेतृत्व वाली सरकार ने प्रतिबंधित तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (टीटीपी) आतंकी समूह से हथियार डालने और आत्मसमर्पण करने को कहा है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

पाकिस्तान में इमरान खान के नेतृत्व वाली सरकार ने प्रतिबंधित तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (टीटीपी) आतंकी समूह से हथियार डालने और आत्मसमर्पण करने को कहा है। जियो न्यूज की रिपोर्ट में इसकी जानकारी दी गई। अफगान तालिबान कमांडर सिराजुद्दीन हक्कानी युद्धविराम वार्ता में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है और सरकार प्रतिबंधित संगठन के बीच वार्ता को सफल बनाने के लिए काम कर रही है।

सूत्रों के मुताबिक, टीटीपी प्रमुख मुफ्ती नूर वली समूह की ओर से बातचीत का नेतृत्व कर रहे हैं।
प्रतिबंधित संगठन ने कहा है कि हथियार डालना 'बहुत जल्दी' होगा और सरकार से उनके सदस्यों को जेल से रिहा करने की मांग की है।

अफगान तालिबान के सूत्रों ने कहा कि सरकार ने अभी तक प्रतिबंधित संगठन की मांगों पर प्रतिक्रिया नहीं दी है, अगर मजबूत गारंटर प्रदान किए जाते हैं और संगठन की शर्तों को स्वीकार किया जाता है तो वार्ता सफल हो सकती है। रिपोर्ट में कहा गया है कि प्रतिबंधित टीटीपी के कुछ धड़े पाकिस्तानी सरकार के साथ बातचीत करने के पक्ष में हैं, जबकि अन्य अभी भी सख्त रुख अपना रहे हैं।


पिछले महीने, प्रधानमंत्री खान ने स्वीकार किया था कि उनकी सरकार प्रतिबंधित टीटीपी के कुछ गुटों के साथ निरस्त्रीकरण की बातचीत कर रही थी क्योंकि पाकिस्तान, अफगानिस्तान में तेजी से विकसित हो रहे हालात की पृष्ठभूमि में देश में स्थिरता चाहता है।

टीआरटी वल्र्ड से बात करते हुए उन्होंने कहा, "आप जानते हैं, मुझे लगता है कि कुछ पाकिस्तानी तालिबान समूह वास्तव में कुछ शांति के लिए, कुछ सुलह के लिए हमारी सरकार से बात करना चाहते हैं।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia