पाकिस्तान चुनाव: किसी को भी बहुमत नहीं मिलने के बाद 'खेला' शुरू, 3 निर्दलीय गए नवाज के साथ, किसकी बनेगी सरकार?

निर्दलीय उम्मीदवार मतगणना में हुई गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए हाईकोर्ट पहुंच गए हैं। पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक, आने वाले दिनों में कुछ निर्दलीयों ने हाईकोर्ट जाने की बात कही है

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

पाकिस्तान में हुए आम चुनाव में किसी पार्टी को बहुमत नहीं मिलने की वजह से सरकार बनाने के लिए जोड़तोड़ की राजनीति शुरू हो गई है। 265 सीटों वाली नेशनल असेंबली में बहुमत हासिल करने के लिए 133 सीटों की जरूरत है। इस बीच खबर आ रह है तीन निर्दलीयों ने नवाज शरीफ की पार्टी को अपना समर्थन दिया है। उधर, इमरान खान की पार्टी 'पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ' (पीटीआई) समर्थित निर्दलीय उम्मीदवारों ने हार के बाद चुनाव में धांधली का आरोप लगाया है। निर्दलीय उम्मीदवार मतगणना में हुई गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए हाईकोर्ट पहुंच गए हैं। पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक, आने वाले दिनों में कुछ निर्दलीयों ने हाईकोर्ट जाने की बात कही है।

शहबाज शरीफ और उनके बेटे हमजा शरीफ ने जिस सीट पर जीत हासिल की है उन सीटों पर हारने वाले निर्दलीयों ने हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। वहीं, नवाज शरीफ को जहां से जीत मिली है, वहां से हारने वाली यासमीन राशिद भी अदालत पहुंच गई हैं।


जिस तरह के नतीजे आए हैं, उससे साफ हो गया है कि पाकिस्तान में त्रिशंकु सरकार बनने वाली है। सरकार बनाने के लिए कौन किसके साथ जाएगा, फिलहाल साफ नहीं हुआ है। पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) चीफ बिलावल भुट्टो ने कहा है कि गठबंधन सरकार के लिए पीटीआई और नवाज शरीफ की पाकिस्तान मुस्लिम लीग (पीएमएल-एन) के साथ फिलहाल कोई बातचीत नहीं हुई है।

बिलावल भुट्टो ने यह भी कहा कि उनकी पार्टी अपने बूते सरकार नहीं बना सकती है। जब मीडिया ने उनसे पूछा कि क्या उनकी या उनके पिता आसिफ जरदारी की शहबाज शरीफ के साथ कोई बैठक हुई है। इस पर उन्होंने कहा कि मैं ऐसी किसी बैठक के बारे में नहीं बता सकता। उन्होंने कहा कि जब सभी नतीजे हमारे सामने होंगे, तो हम दूसरों के साथ बातचीत करेंगे।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;