पाकिस्तान चुनावः आसिफ जरदारी ने बिलावल भुट्टो के लिए मांगा प्रधानमंत्री पद, शहबाज शरीफ ने किया दावा

एक बड़े घटनाक्रम में पीपीपी इस शर्त पर पीएमएल-एन के साथ गठबंधन बनाने पर सहमत है कि बिलावल को प्रधानमंत्री बनाया जाएगा। शहबाज ने पार्टी नेताओं को बताया कि आसिफ जरदारी ने पेशकश की कि बदले में पीपीपी पंजाब प्रांत में सरकार बनाने के लिए उनका समर्थन करेगी।

आसिफ जरदारी ने बिलावल भुट्टो के लिए मांगा प्रधानमंत्री पद, शहबाज शरीफ ने किया दावा
आसिफ जरदारी ने बिलावल भुट्टो के लिए मांगा प्रधानमंत्री पद, शहबाज शरीफ ने किया दावा
user

नवजीवन डेस्क

पाकिस्तान चुनाव के नतीजों पर जारी संशय के बीच पीएमएल-एन और पीपीपी में सरकार गठन को लेकर मोलभाव भी शुरू हो गया है। पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) अध्यक्ष शहबाज शरीफ ने अपनी पार्टी के नेताओं से कहा है कि पूर्व राष्ट्रपति आसिफ जरदारी ने अपने बेटे और पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) के अध्यक्ष बिलावल भुट्टो जरदारी के लिए प्रधानमंत्री पद और प्रमुख विभागों की मांग की है।

द न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, एक बड़े घटनाक्रम में पीपीपी इस शर्त पर पीएमएल-एन के साथ गठबंधन सरकार बनाने पर सहमत हो गई है कि बिलावल को प्रधानमंत्री बनाया जाएगा। शहबाज ने पार्टी नेताओं को बताया कि आसिफ जरदारी ने पेशकश की कि बदले में पीपीपी पंजाब प्रांत में सरकार बनाने के लिए पीएमएल-एन का समर्थन करेगी।

न्यूज को पीएमएल-एन सूत्रों से पता चला है कि शहबाज शरीफ ने शुक्रवार रात आसिफ अली जरदारी और बिलावल भुट्टो से मुलाकात की और भविष्य के गठबंधन पर चर्चा की। पार्टी सूत्रों ने शनिवार को कहा कि पीएमएल-एन नेताओं ने केंद्र के साथ-साथ पंजाब प्रांत में भावी सरकार बनाने के लिए विभिन्न विकल्पों पर चर्चा की।


पार्टी सूत्रों ने दावा किया कि पीएमएल-एन नेतृत्व सदमे में है क्योंकि चुनाव परिणाम उनकी उम्मीदों से बिल्कुल अलग हैं। उन्होंने कहा कि नवाज शरीफ, मरियम नवाज और अन्य पीएमएल-एन नेता अति आत्मविश्वास में थे और पार्टी नेतृत्व ने सार्वजनिक रैलियों, घर-घर अभियान, बड़े पैमाने पर सार्वजनिक अभियान और मतदाताओं के साथ सीधे संपर्क पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया, खासकर चुनाव के दिन।

द न्यूज के अनुसार, पार्टी सूत्रों ने कहा कि अब तक जरदारी के साथ गठबंधन बनाना पहला विकल्प था जिसे पीएमएल-एन तलाश रही थी लेकिन वह प्रधानमंत्री का पद छोड़ना नहीं चाहती थी। सूत्रों ने दावा किया कि बैठक में निर्णय लिया गया कि यदि पीपीपी के साथ बातचीत विफल रही, तो पीएमएल-एन उस स्थिति में एमक्यूएम, जेयूआई-एफ और अन्य छोटे दलों के साथ गठबंधन सरकार बनाएगी। द न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, उन्होंने आगे दावा किया कि इस परिदृश्य में, पीएमएल-एन शहबाज शरीफ को प्रधानमंत्री और मरियम नवाज को पंजाब प्रांत का मुख्यमंत्री बनाएगी।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;