पाकिस्तानः इमरान ने आजादी मार्च खत्म करने का दिया संकेत, चुनाव की घोषणा के लिए सरकार को दिया 6 दिन का समय

पीटीआई कार्यकर्ताओं ने डी-चौक के पास स्थित जंग/जियो न्यूज बिल्डिंग पर गुलेल का इस्तेमाल कर पथराव किया और न्यूजरूम के शीशे चकनाचूर कर दिए। जियो की रिपोर्ट के अनुसार, पथराव में कई कर्मचारी घायल हो गए। इसके अलावा, डी-चौक के पास खड़ी वैन भी क्षतिग्रस्त हो गई।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने 'आजादी मार्च' समाप्त करने का संकेत देते हुए गुरुवार को शहबाज शरीफ सरकार को चुनाव की घोषणा करने और विधानसभाओं को भंग करने के लिए छह दिन का अल्टीमेटम दिया है। जियो न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, पीटीआई अध्यक्ष जिन्ना एवेन्यू में 'आजादी मार्च' में भाग लेने वालों को संबोधित करने के बाद अपने बानी गाला आवास रवाना हो गए।

पीटीआई के प्रदर्शनकारी बुधवार की रात अधिकांश समय डी-चौक में मौजूद रहे। प्रदर्शनकारी इस्लामाबाद के प्रतिबंधित रेड जोन में प्रवेश कर चुके थे, जहां सुप्रीम कोर्ट, पीएम हाउस, अमेरिकी दूतावास सहित कई संवेदनशील इमारत हैं। भारी सुरक्षा के बावजूद वे रेड-जोन के अंदर प्रवेश करने में सफल रहे।

जिन्ना एवेन्यू में अपने भाषण में इमरान खान ने कहा कि वह खैबर पख्तूनख्वा से 30 घंटे की यात्रा के बाद इस्लामाबाद पहुंचे हैं। सरकार ने हमारे आजादी मार्च को कुचलने के लिए हर तरह की कोशिश की। उन्होंने शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन पर आंसू गैस का इस्तेमाल किया, हमारे घरों पर छापे मारे गए और हमारी निजता का उल्लंघन किया गया। हालांकि, मैंने देश को गुलामी के डर से मुक्त होते देखा है।


उन्होंने यह भी दावा किया कि कराची में तीन पीटीआई कार्यकर्ताओं की जान चली गई, जबकि दो अन्य को रावी ब्रिज से फेंक दिया गया और हजारों अन्य को गिरफ्तार कर लिया गया। देश में नए सिरे से चुनाव की तारीख की घोषणा करने के लिए सरकार को समय सीमा देते हुए खान ने कहा कि वह सरकार को इस बार जून में आम चुनाव की घोषणा करने के लिए समय दे रहे हैं।उन्होंने कहा, "सरकार के लिए मेरा संदेश है कि वह विधानसभाओं को भंग करे और चुनावों की घोषणा करे, अन्यथा मैं छह दिन के बाद फिर से इस्लामाबाद आऊंगा।"

जैसे ही इमरान खान का काफिला इस्लामाबाद में दाखिल हुआ और बड़े कारवां के साथ डी-चौक की ओर बढ़ने लगा, संघीय सरकार ने रेड जोन की रक्षा के लिए सेना बुला ली। गृह मंत्रालय द्वारा जारी अधिसूचना के अनुसार, संविधान के अनुच्छेद 245 के तहत स्थिति को नियंत्रित करने के लिए सेना बुलाई गई। गृह मंत्री राणा सनाउल्लाह ने ट्विटर पर इसकी पुष्टि की।

पीटीआई कार्यकर्ताओं ने डी-चौक के पास स्थित जंग/जियो बिल्डिंग पर गुलेल का इस्तेमाल कर पथराव किया और न्यूजरूम के शीशे चकनाचूर कर दिए। जियो न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, पथराव में कई कर्मचारी घायल हो गए। इसके अलावा, डी-चौक के पास खड़ी वैन क्षतिग्रस्त हो गई।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia